हूरों के लिए अंत:वस्त्र ले कर आत्मघाती हमले करते हैं आईएस आतंकी

दमिश्क: सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ चल रही जंग से जुड़ी एक खबर आपको हैरान कर देगी। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि कई आत्मघाती हमलावरों के कपड़ों के अंदर बनी जेबों में महिलाओं के अंतर्वस्त्र मिले हैं। सीरियाई सेना द्वारा गिरफ्तार किए गए ऐसे कई जिहादियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वे ये अंत:वस्त्र उन कुंवारी हूरों के लिए ले जा रहे हैं, जो उन्हें जन्नत में मिलेंगी।

इससे पता चलता है कि इन आतंकवादियों का किस तरह ब्रेनवाश किया गया है कि वे ‘जन्नत में हूरों’ से मिलने के लिए आत्मघाती हमला करने से भी नहीं हिचकते। सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ रहे सीरियाई कमांडरों और जनरलों का कहना है कि 30 दिन के भीतर इस जंग का फैसला हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अगले तीस दिनों में हम उन्हें यहां से पूरी तरह खदेड़ देंगे। यहां आईएस आतंकियों की हालत उन पके हुए केलों की तरह की हो गई है, जिसका छिलका उतर चुका है। उन्होंने कहा अब आईएस का सब कुछ समाप्त हो चुका है।

सीरिया की सेना यहां रूस के साथ मिलकर आईएस के खिलाफ मोर्चा संभाल रही है। इराक के मोसुल में हारने के बाद, आईएस के पास मजबूत गढ़ रक्का बचा है। आईएस जैसे जैसे हार रहा है, वैसे-वैसे उसके आत्मघाती हमले बढ़ते जा रहे हैं। अल-नुसरा आईएस का ही एक धड़ा है, लेकिन सेना का मानना है कि अल-नुसरा और अल-कायदा के आतंकवादी ज्यादा बेहतर प्रशिक्षित हैं। उन्हें आधुनिक हथियारों के साथ-साथ ऐंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल चलाना भी आता है। अल-नुसरा और आईएस को लेकर सेना की भावना अलग-अलग है। इदलिब में लड़ रहे अल-नुसरा के लिए उनके मन में एक तरह की जिज्ञासा है, जबकि आईएस के प्रति घृणा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.