लंदन ब्रिज समेत तीन स्थानों पर आतंकी हमले, 3 आतंकी भी ढेर

6 लोगों की मौत, 30 से ज्यादा घायल, 3 संदिग्ध आतंकी भी ढेर

लंदन: ब्रिटेन की राजधानी लंदन एक बार फिर शनिवार की रात को आतंकी हमलों से कांप उठी। शनिवार रात स्थानीय समयानुसार 10.00 बजे के करीब तीन अलग-अलग जगहों पर हुए हमलों में कम से कम 6 लोगों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। पुलिस ने तीन संदिग्ध आतंकियों को मार गिराया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतकों की संख्या का आंकड़ा और बढ़ सकता है। इन तीनों वारदातों में कई लोग घायल भी हुए हैं। 30 घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। पुलिस का कहना है कि घटना की पहले-पहल जानकारी मिलने के 8 मिनटों के अंदर ही उन्होंने तीनों हमलावरों को मार गिराया। करीब 2 हफ्ते पहले ही ब्रिटेन के मैनचेस्टर में एक पॉप कॉन्सर्ट के दौरान हुए एक आत्मघाती हमले में 22 लोग मारे गए थे।

खबरों के अनुसार आतंकियों ने पहले लंदन ब्रिज पर तेज रफ्तार गाड़ी चलाते हुए पैदल लोगों को टक्कर मारी और उन्हें कुचला। मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि हमले के समय आतंकी कम से कम 50 मील प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ी चला रहे थे। इसके बाद हमलावर लंदन ब्रिज से गाड़ी चलाते हुए नजदीके के बरो मार्केट पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद आतंकियों ने अपनी गाड़ी छोड़ दी और खुद गाड़ी से बाहर निकलकर लोगों पर अंधाधुंध चाकू से वार करने लगे। चश्मदीदों का कहना है कि आतंकी जिन चाकुओं से लोगों पर वार कर रहे थे, वह देखने में शिकार के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले चाकू जैसा लग रहा था। अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है।

इस इलाके से गोलीबारी की आवाज सुनकर हथियारबंद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटनास्थल पर फंसे लोगों से जान बचाकर भागने की अपील करते हुए लिखा, ‘भागो, छुपो और लोगों को बताओ।’ हमलों के बाद कार्रवाई करते हुए पुलिस ने लंदन ब्रिज के पास ही 3 हमलावरों को मार गिराया। कुछ खबरों में यह भी कहा जा रहा है कि पुलिस वारदात में अन्य हमलावरों के शामिल होने की संभावना की भी जांच कर रही है। फिलहाल इन हमलों की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है। हमले के बाद पुलिस ने पूरे इलाके को सील कर दिया है।

आगामी 8 जून को होने जा रहे आम चुनाव से ठीक पहले लंदन ब्रिज और बॉरो मार्केट में ये आतंकी हमले किये गए हैं। इंग्लैंड की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने इन घटनाओं के बाद सुरक्षा विभाग के आला अफसरों के साथ एक आपात बैठक बुलाई है। वे इसे आतंकी घटना मान चल रही हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वे इस घड़ी में इंग्लैंड के साथ हैं और हर संभव मदद मुहैया कराने के लिए तैयार हैं। कुछ दिनों पहले ही यानी 22 मई को मैनचेस्टर में एक आत्मघाती बम विस्फोट हुआ था जिसमें 22 लोग मारे गए थे और 116 लोग घायल हो गए थे। मैनचेस्टर हमले के हमलावर की पहचान 22 साल के सलमान आबिदी के रूप में हुई थी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.