ऑस्ट्रेलिया में तूफान से भारी क्षति, हजारों हुए बेघर

कैनबेरा: चक्रवाती तूफान डेबी से ऑस्ट्रेलिया के उत्तरर पूर्वी इलाके में भारी क्षति हुई है। भारी वर्षा के कारण आई बाढ़ और सड़कों पर वृक्षों के गिरने से सेना और अपातकालीन बचाव कर्मियों को तूफान से बुरी तरह प्रभावित इलाकों में पहुंचने में परेशानी हो रही है। यह जानकारी प्राधिकारियों ने बुधवार को दी। बीबीसी के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में एक शक्तिशाली तूफ़ान डेबी की वजह से क्वींसलैंड में भूस्खलन हुआ है। कई इलाक़ों में बिजली और टेलीफ़ोन के कनेक्शन कट जाने से राहत और बचाव कार्य में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। तूफ़ान के दौरान क़रीब 263 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चल रही थी। इसकी वजह से क़रीब 63,000 घरों की बिजली गुल हो गई है और इमारतों को क्षति पहुंची है।

कारवां पार्क की मालकिन रोज़ विलकॉक्स ने कहा कि बोवेन में उनकी संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है। उन्होंने बीबीसी को बताया, “कम से कम 50 पेड़ धाराशायी हो चुके हैं. पड़ोसी की छत गिर गई है और शेड उड़ गए है।” राहत एवं बचाव कर्मियों ने क़रीब 25,000 लोगों को उनके घरों से हटाकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। तूफान में एक पर्यटक रिजॉर्ट ध्वस्त हो गया, लेकिन कोई हताहत नहीं हुआ। हैमिल्टन में दो लोग घायल हुए हैं। खेतों में गन्ने की फसलें सरपट हो हो गई हैं और कोयला की खदानें बंद कर दी गई हैं। क्वींसलैंड में यह तुफान चौथी श्रेणी का था।

क्वींसलैंड के पुलिस उपायुक्त ने कहा, ” हालांकि प्रमुख आधारभूत ढ़ांचे सुरक्षित हैं, लेकिन पुनर्निर्माण कार्य चुनौतीपूर्ण होगा।” विदित हो कि तटीय इलाके में अन्य रिजॉर्ट के साथ विश्व प्रसिद्ध ग्रेट बेरियर रीफ को भी तूफान का दंश झेलना पड़ा है। प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल ने संवाददाताओं से कहा कि प्रकृति ने क्वींसलैंड के लोगों पर कहर बरपाया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.