पेरिस समझौता अमेरिका पर कठोर वित्तीय एवं आर्थिक बोझ: ट्रंप

ट्रंप ने चार देशों के नेताओं के साथ पेरिस समझौते पर की चर्चा

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने की घोषणा कर दी है। ट्रंप ने व्हाइट हाऊस के रोज गार्डन में कहा,” हम पेरिस समझौते से बाहर निकल रहे हैं। उन्होंने कहा कि पेरिस समझौता अमेरिका पर कठोर वित्तीय एवं आर्थिक बोझ है।”

उन्होंने कहा कि अमेरिका और उसके नागरिकों की रक्षा करना मेरा परम कर्तव्य है इसलिए अमेरिका पेरिस समझौता से बाहर निकलन जाएगा। हम इससे हट रहे हैं और फिर से बातचीत शुरू करेंगे। ट्रंप ने कहा कि वह चाहते हैं कि जलवायु परिवर्तन को लेकर पेरिस समझौते में अमेरिकी हितों के लिए एक उचित समझौता हो।

इस समझौते से बाहर निकलने के बाद अमेरिका सीरिया और निकारगुआ की तरह पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने वाले देशों की श्रेणी में शामिल हो गया है । अमेरिका चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन करने वाला देश है।

पिछले वर्ष राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार रह चुके बेर्नी सैंडर्स ने कहा,” इस समय जब जलवायु परिवर्तन पहले से ही दुनिया भर में विनाशकारी नुकसान पैदा कर रहा है, हमारे पास भविष्य की पीढ़ियों के लिए इस ग्रह को सुरक्षित रखने के प्रयासों से पीछे हटने नैतिक अधिकार नहीं है।” डेमोक्रेटिक सीनेटर शेल्डन व्हाइटहाउस ने कहा कि वास्तविकता को नजरअंदाज कर पेरिस समझौते से बाहर निकलने का फैसला हमारे देश के इतिहास में सबसे खराब विदेश नीति के फैसलों में से एक है। ट्रंप के यूरोपीय यात्रा और इस निर्णय के बाद अमेरिका विश्व समुदाय में अलग-थलग पड़ सकता है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में पेरिस समझौते में लगभग 200 देशों ने सहमति जताई थी। इसके समझौते का उद्देश्य कार्बन डाइऑक्साइड और अन्य गैसों के उत्सर्जन को घटाना है। समझौते के तहत अमेरिका ने 2025 तक 2005 के स्तर से अपने उत्सर्जन को 26 से 28 प्रतिशत कम करने का वादा किया था।

ट्रंप ने चार देशों के नेताओं के साथ पेरिस समझौते पर की चर्चा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल,फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन,कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टीन ट्रूडो और ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे को व्यक्तिगत रूप से टेलीफोन कर पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने के अपने फैसले से अवगत कराया। व्हाइट हाऊस ने एक वक्तव्य जारी कर बताया कि ट्रंप ने इन नेताओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि अमेरिका ट्रान्सटलांटिक गठबंधन और पर्यावरण की रक्षा के मजबूत प्रयासों के लिए प्रतिबद्ध है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.