रोहिंग्या मुसलमानों पर हिंसा रोके म्यांमार: अमेरिका

वाशिंगटन: अमेरिका ने कहा है कि म्यांमार से रोहिंग्या मुसलमानों के हिंसक विस्थापन से पता चलता है कि देश के सुरक्षा बल नागरिकों की सुरक्षा नहीं कर रहे हैं और म्यांमार की सरकार को इस पर रोक लगाना चाहिए।   अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय ने कल एक बयान जारी करके कहा, “हम म्यांमार के सुरक्षा अधिकारियों का आह्वान करते हैं कि वे कानून के शासन का सम्मान करें, हिंसा पर रोक लगायें और सभी समुदायों के नागरिकों का विस्थापन रोंके।”

गौरतलब है कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ पिछले महीने शुरू हुई हिंसा के बाद तीन लाख से भी ज़्यादा रोहिंग्या मुसलमान पलायन कर चुके हैं , हालांकि म्यांमार की सेना का कहना है कि उसकी कार्रवाई केवल रोहिंग्या चरमपंथियों के खिलाफ है। उसने आम लोगों को निशाना बनाने के आरोप से इंकार किया है। गत 25 अगस्त को रखाइन प्रांत के उत्तरी इलाके में रोहिंग्या चरमपंथियों ने पुलिस चौकियों को निशाना बनाया जिसमें 12 सुरक्षाकर्मी मारे गए थे। इस घटना के बाद से ही वहां हिंसा भड़क गई और रोहिंग्या मुसलमानों को देश छोड़ कर भागना पड़ा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.