पापुआ न्यू गिनी में जनजातीय हिंसा में 23 मरे, प्रधानमंत्री ने हिंसा की निंदा की

सिडनी: पापुआ न्यू गिनी (पीएनजी) के प्रधानमंत्री ने हेला प्रांत में जनजातीय हिंसा में 23 लोगों के मारे जाने पर गहरा शोक व्यक्त किया है और इसकी निंदा की है। मरने वालों में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। प्रधानमंत्री जेम्स मारपे ने मंगलवार को शोक व्यक्त करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा, ”आज मेरे जीवन के सबसे दुखद दिनों में से एक है, मेरे निर्वाचन क्षेत्र मुनिमा और करिदा गांवों में कई मासूम बच्चों और निर्दोष माताओं की हागुआइ, लीवी और ओकीरू बंदूकधारियों द्वारा हत्या कर दी गई।” हाइलैंड क्षेत्र के हेला प्रांत के मूल निवासी मरापे ने घटना के जिम्मेदार लोगों को न्याय के कटघरे में लाने का संकल्प लिया।

उन्होंने कहा, ”उन बेगुनाहों की याद में जिनका बंदूकधारी अपराधियों के हाथों मरना जारी है…तुम्हारा (अपराधियों) समय अब पूरा हो चुका है।” उन्होंने कहा कि वह कड़े कानून का इस्तेमाल करने से नहीं हिचकेंगे।हालांकि यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि सोमवार को हत्याओं को अंजाम दिए जाने के पीछे की वजहें क्या थीं, हेला के गवर्नर फिलिप अनडियालु ने बुधवार को आस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कार्पोरेशन को बताया कि हत्याओं के पीछे का मकसद दूसरे गांव में पहले की घटना के संदर्भ में प्रतिशोध हो सकता है।उन्होंने कहा, ”हमने इस क्षेत्र में होने वाले जनजातीय झगड़े के बारे में कभी नहीं सुना है, यह किसी अन्य क्षेत्र में हुई लड़ाई का परिणाम था, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.