दुष्कर्म के बाद बच्ची की हत्या, पाकिस्तानी हस्तियों ने की निंदा

इस्लामाबाद: पाकिस्तानी अभिनेत्री माहिरा खान और अभिनेता अली जफर ने आठ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या की कड़ी निंदा की है। फिल्मी सितारों ने कहा कि यौन उत्पीड़न के बारे में खुलकर बोलने की जरूरत है।पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के कसूर शहर में मासूम का शव कचरे से बरामद किया गया था। उसका कई बार यौन उत्पीड़न किया गया था।

महिरा ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कहा, ”हमें यौन उत्पीड़न के बारे में खुलकर बोलने की जरूरत है। हमें इसे अपने स्कूली पाठ्यक्रमों में शामिल करने की जरूरत है। जागरूकता ही समाधान है। यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म को शर्म के साथ जोड़ दिए जाने की वजह से कई मामले अनसुने रह जाते हैं। इस शर्म को रोकें।” कसूर में बुधवार को नाबालिग का शव बरामद होने के बाद हिंसा भड़क गई। लोगों ने पुलिस पर बच्ची को बचाने के लिए कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया।

‘डॉन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची को आखिरी बार चार जनवरी को अपने घर के समीप रोडकोट इलाके स्थित ट्यूशन की कक्षा लेते वक्त देखा गया था, जिसके बाद से वह लापता हो गई थी। मृतका के लिए इंसाफ की मांग करते हुए माहिरा ने कहा, ”जब भी हमें इस तरह के जघन्य अपराधों कागवाह बनना पड़ता है, हम एक राष्ट्र के रूप में हर बार विफल हुए हैं। हम तब और विफल साबित होंगे जब इस घटना के बूचड़ों को फांसी के तख्ते तक नहीं ला सकेंगे। और, हम तब और असफल होंगे जब हम घटना के खिलाफ सड़क पर उतरने के बजाए अपने घरों में बैठे रहेंगे।” माहिरा ने जघन्य घटना के खिलाफ आयोजन के लिए लोगों से कराची प्रेस क्लब पहुंचने का आह्वान किया।

अली जफर ने कहा कि इस जघन्य अपराध के बारे में सुनकर गहरी निराशा उभरी हैं और वह नाबालिग लड़की के लिए इंसाफ चाहते हैं।उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”अपनी जिंदगी में इतना आशाहीन और गुस्सा कभी नहीं हुआ। उसके परिजन उमरा (सऊदी अरब के मक्का में धार्मिक कृत्य) करने गए हुए थे, तब यह हुआ। उनके दिमागी हालत की कल्पना कीजिए। न्याय मिलना चाहिए।” मासूम की नृशंस हत्या ने लोगों के बीच गुस्सा भड़का दिया है। शहर में पिछले साल से दो किलोमीटर के दायरे में इस तरह की 12 घटनाएं हो चुकी हैं।

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लामाबाद से 400 किलोमीटर दूर कसूर 2015 में तब अंतर्राष्ट्रीय सुर्खियों में आया था, जब बच्चों के साथ यौन अपराध में शामिल समूह को दबोचा गया था। यह समूह कथित रूप से बच्चों को अगवा कर उनका यौन शोषण करता था और इस समूह ने इलाके के कम से कम 280 बच्चों को अपना शिकार बनाया था। यह समूह 2009 से पीड़ितों के परिवार वालों को ब्लैकमेल किया कर रहा था और बच्चों के यौन शोषण के वीडियो और तस्वीरों को बेचा करता था।

पाकिस्तान के चर्चित बैंड जुनून के गिटारिस्ट और गीतकार सलमान अहमद ने कहा, ”इन शैतानी ताकतों के बढ़ते प्रभाव के लिए पाकिस्तान में कोई कानून या न्याय नहीं रह गया है? देश के अन्य हिस्सों के साथ-साथ कसूर में पैर पसार रहे यौन व्यापार में मिलीभगत पर या फिर आंखे मूंदना पुलिस और पंजाब सरकार के लिए शर्मनाक है।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.