क्या पाकिस्तानी पायलटों को दी जा रही है राफेल उड़ाने की ट्रेनिंग, फ्रांस ने नाकारा

नई दिल्ली: फ्रांस ने उन खबरो का खंडन किया है जिनमें बताया गया था कि पाकिस्तान के पायलटों काे फ्रांसीसी रफाल लड़ाकू विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया गया है। नई दिल्ली में फ्रांस के राजदूत अलेक्ज़ेंडर ज़िगलर ने कहा है, ‘यह पूरी तरह फर्जी खबर  है। इसकी मैं पुष्टि कर सकता हूं। खबर में दी गई जानकारियों का मिलान किया है। यह पूरी तरह ग़लत पाई गई हैं। ग़ौरतलब है कि हाल ही में फ्रांस के एआईएनऑनलाइन डॉट कॉम नाम के एक पोर्टल पर बीते दिनों खबर प्रकाशित हुई थी। इसे जाॅन लेक नाम के पत्रकार ने लिखा था। इसके मुताबिक, कतर की वायु सेना के लिए पाकिस्तान के पायलटों को नवंबर-2017 में रफाल विमान उड़ाने का प्रशिक्षण दिया गया है।

बताते चलें कि भारत की तरह कतर भी फ्रांस से रफाल लड़ाकू विमान ख़रीद रहा है। बल्कि उसे तो इस साल छह फरवरी को पहले रफाल विमान की आपूर्ति भी हो चुकी है। कतर और भारत को मिल रहे रफाल विमान हवा से हवा में मार करने वाली लंबी दूरी की मिसाइल से लैस हैं। कतर ने मई 2015 में 24 रफाल विमानों का सौदा किया था। बाद में दिसंबर 2017 में उसने 12 रफाल विमान और ख़रीदने के लिए इन्हें बनाने वाली कंपनी दसॉ से क़रार किया।

ध्यान रखने की बात यह भी है कि कतर सहित मध्य एशिया के कई देशों में पाकिस्तानी सैनिक, वायु सैनिक, नौसैनिक आपसी अदला-बदली कार्यक्रम के तहत तैनात रहते हैं। दूसरी बात यह भी कि भारत में रफाल लड़ाकू विमानों का सौदा काफ़ी विवादित हो चुका है। इसे लेकर विपक्ष लगातार नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर रुख़ अपनाए हुए है। ऐसे में इस खबर के बाद उसके हमले तेज हो सकते हैं। संभवत: इसीलिए फ्रांस के राजदूत ने स्पष्टीकरण भी जारी किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.