पीएमओ गोरखपुर की घटना पर नजर बनाए हुए हैं, संपर्क में प्रदेश सरकार 

नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के गृहक्षेत्र गोरखपुर में करीब 63 बच्चों की मौत की खबर ने पूरे देश को हिला दिया है। दिल्ली से गोरखपुर तक इस मसले पर सरकार, प्रशासन, अस्पताल और ऑक्सीजन सप्लाई कंपनी पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। जहां विपक्ष सरकार और प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का इस्तीफा मांग रहा है| वहीं सरकार का कहना है कि ये बीमारी के कारण हुआ। इस पर राजनीति न की जाये।

इस मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से पहली प्रतिक्रिया पीएमओ से आई है। पीएमओ की तरफ से ट्वीट करके कहा गया है कि प्रधानमंत्री गोरखपुर घटना पर नजर बनाए हुए हैं। वह केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों से लगातार संपर्क में हैं।

पीएमओ ने कहा केंद्र की तरफ से स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल और स्वास्थ्य सचिव को गोरखपुर भेजा गया है।इस मसले पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने भी योगी से फोन पर बात की है। गौरतलब है कि इस हादसे पर सरकार विपक्ष के तीखे निशाने पर है। नोबेल पुरुस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने इस घटना को नरसंहार करार दिया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.