चोटी काटने के मद्देनजर श्रीनगर में निषेधाज्ञा लागू

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में चोटी काटने की घटनाओं के खिलाफ अलगाववादी नेताओं के आज विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर हिंसा को रोकने के लिए शहर के कुछ हिस्सों में निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी। हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज मौलवी उमर फारुख का गढ़ माने जाने वाली घाटी की ऐतिहासिक जामा मस्जिद के दरवाजे सुबह एक बार फिर से बंद कर दिये गये। मस्जिद पर भारी मात्रा में सुरक्षाबल के जवानों को तैनात किया गया है।

पुलिस ने कहा है कि एहतियातन शहर-ए-खास और पुराने इलाके के नौहप्ता, खानयार, रैनावाडी, एमआर गंज और सफा कदाल थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू की गयी है। एहतियात के तौर पर इसी तरह की पाबंदियां करालखुद, मैसुमा और सिविल लाइन क्षेत्र में भी लगायी गयी हैं। हुर्रियत के दोनों धड़ों, जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट ने घाटी में चोटी कटने की घटनाओं के विरोध में जुमे की नमाज के बाद अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों से प्रदर्शन की अपील की है।

घाटी में पिछले एक महीने में ऐसे तीन दर्जन से अधिक मामले दर्ज किये गये हैं। अलगाववादी नेताओं ने घाटी में चोटी काटने की घटनाओं के विरोध में आयोजित की जाने वाली 14 अक्टूबर की “पोलो ग्राउंड चलो” रैली स्थगित कर दी। हालांकि श्रीनगर के ऊपरी क्षेत्र समेत घाटी के अन्य इलाकों में जनजीवन सामान्य बना हुआ है और लोग अपने रोजमर्रा के काम में व्यस्त रहे।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.