सुंदरवन क्षेत्र में बाघ हमले में 10 मछुआरों की मौत

काकद्वीप: बंगाल के सुंदरवन क्षेत्र में पिछले तीन महीनों के दौरान हुए बाघ हमले में कम से कम 10 मछुआरों की मौत हो गयी जबकि लगभग 15 अन्य घायल हो गए। सुंदरवन मछुआरा संगठन ने आज इस बात की जानकारी दी। बाघ हमले के पीड़ति मछुआरें दक्षिण 24 परगना जिले के गोसाबा, कुलटोली, मोइपीठ और पाथरप्रतिमा गांवों के रहने वाले हैं।

बाघ हमले के पीड़ति सभी मछुआरे 20 से 40 वर्ष की आयु के हैं। सुंदरवन के घने जंगलों में मछली पकड़ने के उद्देश्य से गए मछुआरों पर रॉयल बंगाल टाइगर ने हमले किए। गौरतलब है कि दक्षिण 24 परगना जिले के इन गांवों में रहने लगभग 15 हजार लोगों का व्यवसाय शहद एकत्रित करने के अलावा मछली और झींगा पकड़ना है।

गौरतलब है कि पि>म बंगाल में कानून के प्रावधानों के अनुसार यदि कोई व्यक्ति किसी जानवर के हमले में मारा जाता है तो इसके लिए मुआवजे का प्रावधान है लेकिन घने जंगलों में जाना गैरकानूनी है इसलिए बाघ हमले के पीड़ति मुआवजे की मांग नहीं कर सकते।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.