पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में किया सीजफायर उल्लंघन, एक जवान शहीद

श्रीनगर: पाकिस्तान ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर नियंत्रण रेखा तक सीजफायर उल्लंघन से तनाव बढ़ा दिया है। मंगलवार रात उसने कठुआ में भारी गोलाबारी को तो आज (बुधवार) नियंत्रण रेखा पर बारामूला जिले में तोप के गोल बरसाए। पाकिस्तान लगातार रिहायशी इलाकों को निशाना बना रहा है। भारतीय सेना पाकिस्तान के दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। हालांकि, रामपुर सेक्टर में इंडियन आर्मी के एक जेसीओ शहीद हो गए तो 2 नागरिक जख्मी हुए हैं। पाकिस्तान की ओर से हाजीपीर क्षेत्र और उरी में सुबह तकरीबन 11 बजकर 30 मिनट पर गोलीबारी शुरू की गई। सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान की सेना ने रिहायशी इलाकों को भी निशाना बनाया। इसकी वजह से दो आम नागरिक भी जख्मी हो गए। पाकिस्तानी सैनिकों ने बारामूला जिले के सेक्टर में कई सैन्य ठिकानों और आम नागरिकों को निशाना बनाते हुए छोटे हथियारों से हमला किया।

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में इंटरनैशनल बॉर्डर के अग्रिम इलाकों में पाकिस्तानी सैनिकों ने मंगलवार पूरी रात गोलाबारी की। इसकी वजह से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल पसर गया। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से चंदवा और हीरानगर सेक्टर में मंगलवार रात फायरिंग और शेलिंग शुरू हुई थी। इसके बाद बीएसएफ के जांबाज जवानों ने पाकिस्तान की इस हरकत का उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया। परिणामस्वरूप दोनों तरफ से रातभर लगातार फायरिंग होती रही। पाकिस्तान की ओर से की जा रही इस कायराना हरकत को देखते हुए हीरानगर में कुछ लोग सड़कों पर उतर आए। इसके बाद उन्होंने आम नागरिकों को निशाना बनाए जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके साथ ही लोगों ने कहा कि पाकिस्तान को दोटूक जवाब देना चाहिए।

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बारामूला और शोपियां जिलों में अलग-अलग अभियानों में लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी और जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस टीम इन आतंकियों से पूछताछ कर रही है। इसी महीने जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी बैट टीम के हमले की बड़ी साजिश को भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान के दो स्पेशल सर्विस ग्रुप कमांडो को मार गिराया था। भारतीय सेना ने इस हमले को पुंछ जिले में लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) से सटे सुंदरबनी सेक्टर में नाकाम किया था। इसके अलावा बैट टीम के हमले में भारतीय सेना का एक जवान शहीद भी हुआ था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.