नौकरी का झांसा देकर लड़कियों को देह व्यापार में उतारने वाले गिरोह का पर्दाफाश

भोपाल: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल पुलिस की साइबर अपराध शाखा ने लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर उन्हें देह व्यापार में उतारने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

राजधानी भोपाल की पॉश कॉलोनी अरेरा कॉलोनी में चल रहे इस गिरोह ने महाराष्ट्र और मेघालय तक से लड़कियों को बुलाकर उन्हें देह व्यापार में उतारा था। आरोपी एक अश्लील वेबसाइट के माध्यम से लड़कियों की बुकिंग का काम करते थे। पुलिस ने चार लडकियों को देहव्यापार में जाने से बचाने का भी दावा किया है।

साइबर अपराध पुलिस की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक गिरोह अश्लील वेबसाइट बनाकर लडकियां उपलब्ध कराने के लिये बुकिंग करते थे। पुलिस को मिली शिकायत के बाद आरोपियों का पता चलने पर स्थानीय ई-7 अरेरा कॉलोनी स्थित एक फ्लैट पर छापा मारकर नौ लोगों को दबोच लिया गया। नौकरी के लिये मेघालय और महाराष्ट्र से बुलाई गई लड़कियों को भी मुक्त कराया गया है।

आरोपियों की पहचान दिनेश मेवाडा, सुरेश गेहलोत, रवि प्रजापति, मनोज गुप्ता, हरजीत धनवानी, कृष्ण कुमार जायसवाल, सुरेश बेलानी, मिसवाउद्दीन और नीरज शाक्य के रूप में हुई है। एक आरोपी सुभाष उर्फ वीर द्विवेदी फरार है।

भोपाल में कई होटलों में प्रबंधक का काम कर चुका सतना निवासी वीर विभिन्न वेबसाइटों पर ऐसी लडकियों की तलाश करता था, जो नौकरी के लिये अपने बायोडाटा साइटों पर देती थी। इसके बाद वह ऐसी लडकियों को होटल के रिसेप्शन, कॉल सेन्टर या ब्यूटीपार्लर में अच्छी नौकरी का झांसा देकर बुलाता था। लड़कियों के आने पर उन्हें फ्लैट में रखा जाता था। उसके बाद ग्राहकों का कंपनी के रिसेप्शन मैनेजर के नाम से लड़कियों से परिचय कराया जाता और यह आश्वासन दिया जाता था, कि यह मैनेजर उन्हें अच्छी तन्ख्वाह वाली नौकरी दिला देंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.