घरों में स्मार्ट मीटर लगाने की ओर बढ़ा सीईएससी

कोलकाता: विज्ञान के बल पर दिनों दिन आधुनिकता की दौड़ में तकनीक का हाथ पकड़ कर लगातार विकसित हो रही दुनिया में कलकत्ता इलेक्ट्रिक सप्लाई कॉरपोरेशन (सीईएससी) कहीं पीछे नहीं रहना चाहता। कोलकाता महानगर की मुख्य विद्युत आपूर्ति संस्था सीईएससी अब अपने ग्राहकों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए घर-घर स्मार्ट मीटर लगाने की कवायद शुरू कर चुकी है।

इस अत्याधुनिक मीटर की विशेष खूबी यह है कि ग्राहकों का मीटर चेक करने के लिए सीईएससी कर्मियों को घर-घर नहीं जाना पड़ेगा बल्कि स्मार्ट तकनीक के जरिए कंट्रोल रूम में बैठकर ही आसानी से इस्तेमाल की गई बिजली की मात्रा व खर्च का ब्यौरा देखा जा सकेगा। साथ ही ग्राहक भी इसमें स्मार्ट मीटर के जरिए अपने बिजली की खपत को मॉनिटर कर सकेंगे। इस बारे में संस्था के एमडी अनिरुद्ध बसु ने बताया 2005 में हम लोगों ने पुराने मीटर के बदले इलेक्टड्ढॉनिक मीटर लगाने की शुरुआत की थी।

हमारे करीब 31 लाख ग्राहकों में से करीब 21 लाख लोगों तक इलेक्ट्रॉनिक मीटर पहुंचाया जा चुका है। अब हम अपनी सेवाओं को और अधिक स्मार्ट बनाने के लिए ही अत्याधुनिक मीटर लगाने की ओर बढ़ चुके हैं। 2014 में हम लोगों ने स्मार्ट मीटर का परीक्षण शुरू किया था। करीब 2000 घरों में इसे लगाया गया है एवं इसकी सफलता को देखते हुए अब इसे प्रत्येक ग्राहक के पास पहुंचाने की कवायद शुरू की जा रही है।सबसे पहले अस्पतालों, बड़े व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, शैक्षणिक संस्थानों एवं शॉपिंग संस्थानों आदि में लगाया जाएगा।

इसके बाद धीरे-धीरे प्रत्येक ग्राहक के घर में इस नए स्मार्ट मीटर को इंस्टॉल किया जाएगा। सीईएससी के एक इंजीनियर ने कहा कि कई बार इलेक्ट्रॉनिक मीटर में इस्तेमाल से अधिक बिल आ जाता है। ग्राहकों को भी परेशानी होती है और हमें भी। कई बार मीटर में गड़बड़ी की वजह से शार्ट सर्किट होती है और आगजनी की घटनाएं भी हो जाती हैं। अब स्मार्ट मीटर से इन दोनों समस्याओं से लोगों को निजात मिलेगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.