रिटायर सब- इंस्पेक्टर का बेटा चुराता था मोबाइल व लैपटॉप

लोअर बाजार थाने की पुलिस ने आमीर सोहैल और दुकानदार गगन को किया गिरफ्तार, तीन लैपटॉप, आधा दर्जन मोबाइल व सैकड़ों सीम कार्ड बरामद

रांची: राजधानी में लॉज, हॉस्टल व दुकानों से लैपटॉप, मोबाइल व अन्य सामान चुराने मामले में सक्रिय आमीर सोहैल को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी पटना के सुल्तानगंज थाना अंतर्गत अजीमाबाद कॉलोनी का रहने वाला है। वर्तमान में एकरा मस्जिद के पास नायाब होटल में रहता था।

होटल में रहकर चोरी की घटना को अंजाम देता था। उक्त जानकारी सिटी डीएसपी शंभू कुमार सिंह ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में पत्रकारों को जानकारी दिये है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार चोर आमीर रिटायर सब इंस्पेक्टर का बेटा है। इसकी निशानदेही पर पुलिस ने चोरी के लैपटॉप खपाने मामले में संलिप्त दुकानदार गगन कुमार को भी गिरफ्तार किया है।

आमीर पिछले एक साल से रांची के लॉज होटलों में ठिकाने बदल-बदलकर रहता था और लॉज व हॉस्टल के छात्रों का लैपटॉप, मोबाइल, पर्स सहित अन्य सामान उड़ाता था। इनलोगों के पास से पुलिस ने चोरी के तीन लैपटॉप, आधा दर्जन मोबाइल और सैकड़ों अलग-अलग कंपनी के सीम कार्ड बरामद किये है।

  • लॉज, हॉस्टल में दोस्त बनकर घुसता था आमीर

सिटी डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार आमीर कई लॉज, हॉस्टल में दोस्त बनकर घुसता और चोरी कर निकल जाता था। कर्बला चौक और नाजीर अली लेन के लॉज से चोरी की घटना की छानबीन के दौरान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उसकी पहचान हुई है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने आमीर को नायाब होटल से दबोचा है। आमीर से पूछताछ के बाद पुलिस टीम ने लैपटॉप खपाने वाले दुकानदार को गिरफ्तार किया है। शनिवार को दोनों आरोपी जेल भेजे जायेंगे। आमीर ने चोरी के चार मामलों में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है, इनमें दो लालपुर और दो लोअर बाजार थाने से संबंधित मामले हैं।

  • लक्की इंफोटेक में खपाता था लैपटॉप-मोबाइल

गिरफ्तार आमीर ने पुलिस पूछताछ में बताया कि चोरी के मोबाइल, लैपटॉप को लक्की इंफोटेक में खपाता था। लक्की इंफोटेक नामक दुकान रोसपा टावर में है। अब तक तीस से अधिक मोबाइल और दर्जन भर लैपटॉप खपा चुका है। इतना ही नहीं गिरफ्तार आमीर ने चोरी के कई मोबाइल को बिहार में भी बेचा है। चोरी की घटना को आमीर अकेले अंजाम देता था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.