अंजुमन अस्पताल में युवती का अश्लील वीडियो बनाने वाला पुलिस के हवाले

परिजनों ने किया घंटो हंगामा, आरोपी गिरफ्तार, जांच घर में ताला

रांची। अंजुमन अस्पताल में शनिवार को मरीज के परिजनों ने जमकर बवाल काटा। लोगों ने अस्पताल परिसर में तोड़-फोड़ कर अपने गुस्से का इजहार किया।

दरअसल, अस्पताल परिसर में लगे जांच घर में कार्यरत कर्मी द्वारा एक युवती का अश्लील वीडियो बनाया जा रहा था, जिसे युवती ने देख लिया और मोबाइल लेकर अपने भाई को सौंप दिया। जब उसके भाई ने अस्पताल प्रबंधन से इसकी शिकायत की तो प्रबंधन के लोग परिजन से ही भिड़ गये।

धक्का-मुक्की के बाद परिजन उग्र हो गये और तोड़-फोड़ शुरू कर दी। इस क्रम में परिजनों ने अंजुमन सदस्य मो नजीब एवं शहजाद बबलू की भी पिटाई कर दी। आनन-फानन में लोअर बाजार थाना प्रभारी को इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी सुमन कुमार ने मामले की पुष्टि की।

उन्होंने कहा कि युवती एवं उनके परिजनों का आरोप सही है। अश्लील वीडियो बनाने की पुष्टि हुई है। युवती के लिखित बयान पर अश्लील वीडियो बनाने वाले कर्मी दीपक कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे जेल भेज दिया जायेगा। वहीं, जांच घर में थाना प्रभारी ने ताला लगवा दिया। उन्होंने कहा पूरी जांच करने के बाद ही जांच घर को खोला जायेगा।

  • तीन वर्ष के लिए मिली थी अनुमति

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अंजुमन अस्पताल परिसर स्थित जांच घर की अनुमति पंकज कुमार नामक व्यक्ति को तीन वर्ष के लिए मिली थी। इसके लिए अंजुमन पदधारियों ने न तो किसी प्रकार का टेंडर निकाला था और न ही किसी अन्य सेवादाता को अवसर दिया गया था। आनन-फानन में इसकी शुरुआत अंजुमन अध्यक्ष इबरार अहमद के नेतृत्व में की गई थी। लेकिन, अनुमति मिलने के प्रथम वर्ष ही जांच घर संचालक के भांजे दीपक कुमार ने इस घटना को अंजाम दिया। इससे स्थानीय लोगों में काफी रोष है और अंजुमन की टीम को बाहर करने की बात कर रही है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.