बड़ाघाघरा की एक प्लॉट को दबंग से मुक्त कराने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र

मामला आदिवासी भुईंहरी जमीन गांव वालों का

रांची: आदिवासी नेता और समाजसेवी दुर्गा कच्छप ने प्रेस बयान जारी कर मुख्यमंत्री रघुवर दास को तेजतर्रार मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि इनके नेतृत्व में झारखंड का चहुंमुखी विकास हो रहा है। उन्होंने कहा है कि सीएनटी-एसपीटी एक्ट में प्रस्तावित संसोधन आदिवासियों के हित में बताकर किया जा रहा है। लेकिन इससे आदिवासियों में दो राय है और बंटे हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने रिंग रोड के अंदर और बाहर की आदिवासी जमीन को लुटने से बचाने का काम किया है। मुख्यमंत्री का यह काम आदिवासी हितों को दर्शता है। रांची बड़ा घाघरा निवासी श्री कच्छप ने मुख्यमंत्री से अनुरोघ किया है कि वे स्व. कार्तिक उरॉव के सानिध्य में रहकर अभी तक आदिवासी हित में काम करते रहे हैं। आदिवासियों की समास्याओं से सरकार और अधिकारियों अवगत कराते रहे हैं। वर्तमान समय में आपके नेतृत्व में आदिवासियों का विश्वास बढ़ा है।

श्री कच्छप ने मुख्यमंत्री से अनुरोध करते हुए कहा है कि वर्तमान समय में आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करने का सिलसिला जारी है। उन्होंने पत्र में कहा है कि रांची बड़ा घाघरा में एक एकड़ से अधिक जमीन पर एक दबंग व्यक्ति द्वारा चहारदिवारी के अंदर निर्माण कार्य किया जा रहा है। यह जमीन भुईहरी है जिसका गलत तरीके से दाखिल खारिज एवं रसीद कटवा लिया गया है। जमीन का खाता नंबर तथा प्लॉट नंबर 1938 एवं 1919 है। उन्होंने कहा है कि यह सारा कार्य अंचल पदाधिकारी से मिलीभगत से संभव हुआ है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध करते हुए कहा है कि उक्त अंचलाधिकारी पर कार्रवाई करते हुए दंबग से गांववालों की जमीन वापस दिलाने का कष्ट करें।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.