साल 2020 तक 50 प्रतिशत आबादी इलाकों में पाइप से होगी जलापूर्ति: रघुवर

बोकारो: झारखंड के सीएम रघुवर दास ने आज कहा कि राज्य के सभी लोगों को पाइप लाईन के माध्यम से शुद्ध जल उपलब्ध कराने के लिये राज्य सरकार कृतसंकल्पित है तथा इस दिशा में तेजी से काम हो रहा है।

रघुवर ने बोकारो में पेटरवार-कसमार ग्रामीण जलापूर्ति योजना का शिलान्यास कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार का लक्ष्य वर्ष 2020 तक राज्य की 50 प्रतिशत आबादी को पाइप लाईन के माध्यम से पेयजल की आपूर्ति करने का है। उन्होंने कहा कि मार्च 2015 तक मात्र 12 प्रतिशत आबादी पाइप जलापूर्ति से आच्छादित थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 30 प्रतिशत हो गई है। उन्होंने कहा कि शुद्ध पेयजल की उपलब्धता को प्रत्येक आबादी तक पहुँचाने के लिए पेयजल एवं स्वच्छता विभाग सतत प्रयासरत है। इस क्रम में 5869.8 लाख की लागत से करीब 72,000 आबादी के आच्छादन के लिए बोकारो जिले में पेटरवार ग्रामीण जलापूर्ति योजना का शिलान्यास हो चुका है।

सीएम ने कहा कि पेयजल एवं स्वच्छता मानव जीवन का अभिन्न अंग है जो राज्य सरकार की प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 तक जिले के सभी सतही जलस्रोतों जैसे डैम, नदी इत्यादि की मैपिंग को पूरा कर निकटवर्ती गांवों और टोलों में सतही जल आधारित योजनाओं का डी0पी0आर0 तैयार कर उपलब्ध संसाधनों के अनुरूप क्रियान्वयन के लिए एक रणनीति तैयार की गई है जिसमें भूमिगत जलश्रोतों का उपयोग न्यूनतम करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने आगे कहा कि भूमिगत जल का उपयोग हम सिर्फ उन्हीं क्षेत्रों में करेंगे जहां सतही जल स्रोत्र उपलब्ध नहीं होगा।

रघुवर ने कहा कि प्रदेश के जो जिले, प्रखण्ड या ग्राम पंचायत खुले में शौच से मुक्त होंगे, उसे प्राथमिकता के आधार पर पाइप जलापूर्ति योजना से आच्छादित किया जायेगा। केन्द्र के सहयोग से संचालित राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, नीर निर्मल परियोजना, राज्य योजना तथा राज्य सरकार के संसाधन के अतिरिक्त डी.एम.एफ.टी तथा सी.एस.आर के तहत् सर्वोच्च प्राथमिकता में पेयजल एवं स्वच्छता को शामिल किया गया है।

इस मौके पर सीएम ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत् ओडीएफ घोषित पंचायतों के मुखिया को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया। सम्मान पाने वाले मुखियाओं में गोड़ाबाली पंचायत चास के महेश कुमार ठाकुर, जरीडीह (पू0) पंचायत बेरमों की मुखिया कंचन देवी, गोविन्दपुर (डी) बेरमो की मुखिया श्याम बिहारी सिंह, दारिद पंचायत पेटरवार की मुखिया शिला देवी, बोरिया (उ0) पंचायत की मुखिया पूजा देवी शामिल थी।

कार्यक्रम के दौरान दिव्यांगजनों को स्वावलंबन स्वास्थ्य बीमा योजना कार्ड का भी वितरण आशालता केन्द्र के लाभुकों के बीच रघुवर द्वारा किया गया। उन्होंने कहा इस योजना के तहत् पूरे झारखण्ड में बोकारो जिला प्रथम स्थान में है।

रघुवर ने कहा कि आदिम जनजाति तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति बाहुल्य ग्रामों टोलों को सरकार द्वारा पहली बार पाइप जलापूर्ति योजना से आच्छादित किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत रांची, गुमला, लोहरदगा, खूंटी, गिरिडीह , दुमका , गोड्डा , पलामू एवं गढ़वा जिलों में मिनी ग्रामीण जलापूर्ति योजना के तहत निर्माण कार्य कराया जा रहा है।

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार राज्य के कई जिलों में आर्सेनिक तथा फ्लोराईड से प्रभावित क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिये विविध तकनीकी का उपयोग कर रही है। प्रभावित क्षेत्रों में विगत दो वर्षों में सरकार ने एक लाख दस हजार से अधिक आबादी को सुरक्षित पेयजल मुहैया कराया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जल की समस्या को गंभीरता से लेते हुए प्रधानमंत्री ने समाधान की दिशा में नेशनल वाटर क्वालिटी सब मिशन प्रारंभ किया जिसके माध्यम से इससे जनसाधारण को जल गुणवत्ता जांच कराने का अधिकार होगा।

रघुवर ने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि राज्य स्तरीय एक लैब के लिये एन०बी०एल० की मान्यता प्राप्त हो चुकी है तथा चार और नये लैब की मान्यता की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है।

राज्य के जल संसाधन मंत्री चन्द्र प्रकाश चौधरी ने कहा कि बोकारो जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी की अधिकांश हिस्सा मात्र चापाकल से आच्छादित है। उन्होंने कहा कि सभी ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों के लिए अल्पव्ययी शौचालय का निर्माण कर राज्य को संपूर्ण स्वच्छता प्रदान करने के लिए भी सरकार कृत संकल्पित है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.