शहीद मैदान में हत्या के बाद मिला था युवक-युवती का शव

रांची: जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र स्थित शहीद मैदान में नाले से हत्या के बाद युवक-युवती के शव मिलने के मामले की जांच में पुलिस को कोई खास उपलब्धि नहीं मिली है। युवक-युवती हत्या के लंबे समय बीत जाने के बावजूद जगन्नाथपुर पुलिस अब तक कारण का पता नहीं कर सकी है। ना ही कोई इससे संबंधित जानकारी एकत्रित कर सकी है। जगन्नाथपुर इंस्पेक्टर अनूप कर्मकार युवती की पहचान तक नहीं करा सके हंै। दोनों मामलों को सुझाने के नाम पर पुलिस सिर्फ खानापूर्ति कर रही है। वरीय अधिकारियों को दिखाने के लिए कई लोगों को पकड़ कर पूछताछ की। मगर, कुछ घंटों बाद उन्हें छोड़ दिया गया था। इसके बाद परेशान होकर एसएसपी अनीश गुप्ता ने दोनों हत्याकांड का खुलासा करने के लिए एसआईटी भी बनाया। जिसमें पूरी टीम को हटिया डीएसपी प्रभात रंजन बरवार कर रहे है। लेकिन, एसआईटी को भी कोई खास उपलब्धि हासिल नहीं हुई है। सिटी एसपी सुजाता विणापानी के नेतृत्व में एसआईटी काम कर रही है।

23 मार्च को मिला था सुधा कर्मचारी संदीप का शव
हटिया के खरसीदाग में रहने वाले सुधा कर्मचारी संदीप कुमार दूबे की 23 मार्च को शहीद मैदान के किनारे नाले में मिला था। अपराधियों ने हत्या से पूर्व संदीप के पैर और हाथ को साड़ी से बांध दिया था। जिसके बाद साक्ष्य छिपाने के लिए शव को फेंका था। मृतक संदीप घर से दोस्तों संग होली खेलने के लिए निकला था। इसके बाद से वह दोबारा घर नहीं लौटा था। परिजनों ने इस मामले में खरसीदाग ओपी में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। हत्या के इतने समय बीत जाने के बावजूद अब तक अपराधियों को ढूंढ़ नहीं सकी है।

15 मार्च को मिला था नग्न अवस्था में युवती का शव
शहीद मैदान के नाले में पुलिस को अज्ञात युवती का शव मिला था। युवती का शव पुलिस ने नग्न अवस्था में बरामद किया था। अपराधियों ने हत्या से पूर्व युवती के साथ दुष्कर्म भी किया था। पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिल सका। ना ही युवती की पहचान हो सकी थी। दुष्कर्म के बाद हत्या की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी हुई थी। युवती का शव करीब पांच दिन पुराना था। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को रिम्स के शीत गृह में रखा था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.