निर्भया के इंसाफ के लिए छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च

दी श्रद्धांजलि, घटना के दो साल बाद भी अपराधी कानून की गिरफ्त से दूर

रांची: बूटी बस्ती में घटी निर्भया कांड की आग अब तक सुलग रही है। निर्मम घटना को दो साल बीत गये लेकिन अपराधी आज भी आजाद हैं। कुशल इंजीनियर बन देश व परिवार के लिए कुछ करने की निर्भया की तमन्ना को बहसी दरिंदों ने तब टुकड़े-टुकड़े कर दिये थे जब वो घर में अकेली रहकर सपने बुन रही थी। तमन्ना उसकी ही नहीं टूटी परिवार व समाज भावी कौशल से वंचित रह गया। यह सब तब हुआ जब देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे जोर शोर से लगाये जाते हैं। नारे के शोर में निर्भया की चित्कार कहीं दब सी गयी। निर्भया को हमारा सिस्टम इंसाफ दिलाने में नाकाम साबित हुई है। पहले रांची पुलिस फिर सीआईडी और अब सीबीआई पिछले एक साल से केस की जांच कर रही है। इस दौरान सीबीआई ने पांच बार निर्भया के परिजनों से पूछताछ की लेकिन कातिलों तक नहीं पहुंच पायी है।

इधर, रविवार को निर्भया कांड की बरसी पर कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों ने विभिन्न बैनरों के तहत कैंडल मार्च निकाला। नम आंखों से निर्भया को श्रद्धांजलि दी। वहीं, सरकार व प्रशासन से कातिलों को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग की। इस मार्च में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल हुईं। मालूम हो कि 16 दिसंबर 2016 को बीटेक की छात्रा निर्भया की अधजली लाश बूटी स्थित उसके कमरे से बरामद हुआ था। दरिंदों ने बलात्कार के बाद उसकी निर्मम हत्या कर दी थी।

अलबर्ट एक्का चौक से सर्जना चौक तक निकाला मार्च
निर्भया कांड की दूसरी बरसी पर रविवार को ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन की ओर से शाम पांच बजे अलबर्ट एक्का चौक से सर्जना चौक तक कैंडल मार्च निकाला गया। आत्मा की शांति के लिए छात्रों ने अलबर्ट एक्का चौक पर कैंडल जलायंे। श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर सदस्यों ने दिल्ली की निर्भया को भी श्रद्धांजलि दी। इस जन श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष मेहुल मृगेन्द्र ने कहा कि महिलाओं और बच्चों पर अपराध बढ़ रहे हैं। घटना के दो साल बाद भी सरकार व पुलिस सिर्फ आश्वासन दे रही है। आम छात्र पिछले दो सालों से इंसाफ की लड़ाई लड़ रहे हैं, आगे भी लड़ते रहेंगे। प्रदेश सचिव लोकेश आनंद ने कहा कि अगर दोषियों को पकड़ा नहीं गया तो उनका मनोबल बढ़ेगा और भविष्य में भी वे ऐसी घटनाओं को अंजाम दे सकता है।

जिला अध्यक्ष विष्णु सिंह ने कहा कि ये बहुत चिंता की बात है कि इस मामले में अभी तक पुलिस को कोई सफलता हाथ नहीं लगी है। हमें निर्भया के लिए इंसाफ चाहिए। इस मौके पर मनीषा सिंह, अनीश अंशुल, अमन कुमार, कौशल सिंह, मनीष सिंह, जूही कुमारी, अनिकेत चौधरी, सन्देश सिंह, यश प्रकाश, कौशिक चौहान, अंकित बाखला सहित दर्जनों छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.