चारा घोटाले के दो मामलों में लालू ने लगायी हाजिरी

रांची: चारा घोटाला के आरसी 47 ए/96 मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव सोमवार को सीबीआई के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में पेश हुए। इस मामले में पूर्व सांसद डा आरके राणा और जगदीश शर्मा सहित अन्य आरोपियों ने भी अपनी हाजिरी लगायी। मामले में सीबीआई की ओर से डा रमाशंकर प्रसाद की गवाही हुई। वह 1992से 2001 तक पलामू के लेस्लीगंज में प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी थे। उन्होंने अदालत को बताया कि वर्ष 1993-94 में दो प्राप्ति रशीद तत्कालीन जिला पशुपालन पदाधिकारी कामेश्वर सहाय एवं चलंत चिकित्सा पदाधिकारी प्रभात कुमार सिन्हा के दबाव में आकर दिया था।

उक्त दोनों प्राप्ति  रशीद में 25 हजार किवंटल पीली मकई और 15 हजार किवंटल बदाम खली का जिक्र था। उन्होंने अदालत को बताया कि यह बात वह पूर्व में 164 के तहत न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पहले भी कह चुके हैं । साथ ही उन्होंने उस बयान की कॉपी की पहचान की। सीबीआई के वरीय विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने बताया कि मंगलवार को दो गवाह की गवाही होनी है। लालू की पेशी मंगलवार को भी होगी। यह मामला डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है।उधर चारा घोटाले से संबंधित आरसी 38 ए/96 दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में सोमवार को लालू प्रसाद यादव ने सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में हाजिरी लगायी।

मामले में अरुण कुमार सिंह की ओर से बहस शुरू हुई। अल्फाबेटिकल क्रम में एक अन्य अभियुक्त को अदालत की ओर से समय दिया गया। यह मामला दुमका कोषागार से 3 करोड़ 13 लाख 41 हजार 451 रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है।वहीं चारा घोटाला के एक अन्य मामले में सोमवार को  सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एसएस प्रसाद की अदालत में तत्कालीन जिला पशुपालन पदाधिकारी बीएन शर्मा ने सरेंडर किया । इस मामले में 24 जनवरी को अदालत ने फैसला सुनाया था। फैसले के दिन अदालत में उपस्थित नहीं होने से अदालत ने उनके खिलाफ वारंट जारी किया था। यह मामला चाईबासा कोषागार से 37.70 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है। ि

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.