सहाय नर्सिंग होम के खिलाफ महिला ने की शिकायत

सही तरीके से इलाज न करने व अधिक पैसे मांगने का लगाया आरोप

 

हजारीबाग: नर्सिंग होमों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन किसी न किसी नर्सिंग होम में मरीजों के साथ लापरवाही के मामले आते रहते हैं, जो मीडिया की सुर्खियां बनता रहता है। लेकिन अस्पताल प्रबंधन द्वारा इनपर कार्रवाई नहीं किए जाने से ये बेखौफ रहते हैं, मानो इन्हें किसी का खौफ ही नहीं है।

ताजा मामला सदर अस्पताल से चंद कदम पर चल रहे सहाय नर्सिंग होम का है, जहां सदर अस्पताल में भर्ती एक महिला को बेहतर इलाज का आश्वासन देकर वहां के कर्मी बहला फुसलाकर सहाय नर्सिंग होम ले गए। मरीज से मनमाने पैसे भी वसूले गए लेकिन जब ऑपरेशन से पस आने लगा तो मरीज पर दबाव बनाकर और पैसे मांगे जाने लगे। महिला ने इसकी शिकायत पुलिस से की। मौके पर पहुंचे पुलिस के दबाव के कारण भय से नर्सिंग होम संचालक ने नि:शुल्क इलाज की बात कह मामले को रफा-दफा किया।

यह नर्सिंग होम पूर्व में भी कई बार सुर्खियों में रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस नर्सिंग होम का निबंधन भी अद्यतन नहीं है। पूर्व में भी इसके खिलाफ हुए जांच में अपने रिपोर्ट में डॉ बीपी सिन्हा ने इस नर्सिंग होम के सरकारी नियमों के खिलाफ चलने की बात लिखते हुए सिविल सर्जन से कार्रवाई का आग्रह किया था। यह जांच जनसंवाद में हुई शिकायत के आधार पर हुई थी।

  • क्या है मामला

चतरा के चिरिदिरी निवासी धनेश्वर सिंह की पत्नी रंजू देवी को डिलेवरी के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां बेहतर इलाज का झांसा देकर सहाय नर्सिंग होम के कर्मी उसे अपने नर्सिंग होम ले आए, जहां 18 हजार रूपये लेकर उसका डिलेवरी करवाया गया। बाद में ऑपरेशन से मवाद आने पर उससे 10 हजार रूपये और मांगे जाने लगे, जिसके बाद महिला के परिजनों ने पुलिस से शिकायत की। पुलिस के आने पर नर्सिंग होम संचालक निशुल्क इलाज को राजी हो गए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.