झामुमो विकास नहीं प्रदेश का विनाश चाहते है: सीएम रघुवर दास

संथाल परगना को झामुमो मुक्त बनाना है: सीएम

दुमका: संथाल परगना को झामुमो मुक्त बनाना है। झारखंड के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा संकट है। झारखण्ड मुक्ति मोर्चा राज्य का विकास नहीं विनाश चाहता है। हेमंत सोरेन सोने का चम्मच लेकर पैदा हुआ है, वह गरीबी क्या जाने। हेमंत सोरेन अपने बाप के बूते राजनीति कर रहे हैं। झामुमो राजनीति बिजनेस के लिए करती है जबकि भाजपा विकास की राजनीति करती है।

बुधवार को यह बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहीं। वह संथाल परगना में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लिट्टीपाड़ा विधानसभा की जनता यदि राज्य का विकास चाहती है तो भाजपा को वोट दे और यदि विनाश चाहती है तो झामुमो को वोट दे। यदि बच्चों का भविष्य सुनहरा चाहिए तो भाजपा को ही वोट दें। झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के लोग गंदी राजनीति करते आ रहे हैं। झामुमो दो नंबर की पार्टी है इसीलिए उन्हें दो नंबर मिला।मुख्यमंत्री की गोपीकांदर और खरोनी बाजार स्कूल मैदान में आयोजित सभा को सुनने के लिए हजारों की संख्या में ग्रामीण जुटे थे। सभा में रघुवर दास ने उपस्थित लोगों को बताया की झामुमो ने दिवंगत विधायक की पत्नी यूनिकी यूडेरा हांसदा के साथ गंदी राजनीति की है।

अंतिम समय तक उन्हें आस में रखा गया की झामुमो से टिकट उन्हें ही दिया जायेगा, जबकि ऐसा नहीं हुआ। रघुवर दास ने यह भी कहा की झामुमो संथाल परगना में बिचौलिया पालती है। उनके बिचौलिया कहते है की मेरे गांव से इतना वोट आपके पक्ष में जायेगा और इतना पैसा लगेगा। लेकिन भाजपा बिचौलिया नहीं पालती है। उन सभी बिचौलियों का हिसाब 9 अप्रैल के बाद लिया जायेगा। बिचौलियों को छोड़ा नहीं जायेगा। बिचौलियों के पास पैसे कहां से आये यह हिसाब उनसे लिया जायेगा। रघुवर दास ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि लिट्टीपाड़ा विधानसभा क्षेत्र राज्य का सबसे पिछड़ा हुआ क्षेत्र है। हमारी सरकार ने इस क्षेत्र के विकास के लिए पेयजल के लिए 2 सौ 17 करोड़ रूपये की लागत से बांसलोई नदी में प्लांट लगाकर क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था की।

इसका कार्य 15 अप्रैल के बाद शुरू होने वाला है। रघुवर दास ने कहा की लिट्टीपाड़ा विधानसभा क्षेत्र का विकास मेरा लक्ष्य है। हालांकि उनकी सभाओं के दौरान मुख्यमंत्री का विरोध भी किया। मुख्यमंत्री के खरौनी बाजार के स्कूल मैदान में संबोधन के दौरान दर्जनों आदिवासी महिलाओं ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन में छेड-छाड़ का कागज में लिखकर विरोध किया। हालांकि सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों ने इन महिलाओं से कागजात जब्त कर लिया। इस दौरान एक आदिवासी महिला ने रघुवर दास को काला झंडा दिखाया और रघुवर दास मुर्दाबाद का नारा लगाती रही। इससे पहले मुख्यमंत्री मुख्यालय के खरोनी बाजार स्कूल मैदान हवाई मार्ग से पहुंचे। भाजपा प्रत्याशी हेमलाल मुर्मू के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे रघुवर दास का यहां स्वागत किया गया।

जिसके बाद उन्होेंने गोपीकांदर के ब्लॉक मैदान में भी चुनावी सभा को संबोधित किया। कार्यक्रम में भाजपा के कई नेता, दुमका और पाकुड़ के जिला अध्यक्ष, कृषि मंत्री रणधीर सिंह और झामुमो के स्वर्गीय दिवंगत विधायक डा.अनिल मुर्मू की पहली पत्नी युनिका यूडेरा हांसदा तथा उनकी पुत्री इंदु मुर्मू भी उपस्थित थी। गौरतलब है कि बीते दिनों यूनिकी यूडेरा हांसदा सहित हजारों कार्यकर्ताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया है। युनिका यूडेरा ने झामुमो को गंदगी की अंबार वाली पार्टी बताया। मुख्यमंत्री रघुवर दास के चुनावी सभा के सम्बोधन के दौरान एक आदिवासी महिला की ओर से काला झंडा दिखाना और दर्जनों महिलाओं द्वारा एसपीटी एक्ट में छेड़छाड़ बताकर विरोध किया जाना पहले से बनायी हुई रणनीति का हिस्सा बताया।

जिन महिलाओं ने विरोध किया वह झामुमो या किसी अन्य पार्टी से जुड़ी नहीं है। रघुवर दास की चुनावी सभा जिस जगह की गई थी वहां चारो ओर से बांस से बैरिकेडिंग की गई थी। मंच के पास और चुनावी स्थल के अंदर जाने के लिए दो प्रवेश द्वारा बनाया गया था, जिसमें मेटल डिडेक्टर लगाया गया था। सभा स्थल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.