15-15 किलो का जिन्दा केन बम व 105 पीस इलेक्ट्रीक तार बरामद

पुलिस को दो दिनों के भीतर दो बड़ी सफलता 15-15 किलो का जिन्दा केन बम व 105 पीस इलेक्ट्रीक तार बरामद

ललपनिया: बोकारो सीआरपीएफ 26 वीं बटालियन के कमाण्डेंट अखिलेश कुमार सिंह के आदेशानुसार नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान के दौरान रहावन कैम्प ए/26 बटालियन व केदला कैम्प ई/26 के सीआरपीएफ बटालियन को दो दिनों के अन्दर दो बड़ी सफलता शुक्रवार को हाथ लगी है।

नक्सलियों ने बड़ी घटना का अंजाम देने के लिए लुगू पहाड़ी के तलहटी में बसे डाका साड़म गांव के समीप घने जंगल में रखे गये 15-15 किलो का शक्तिशाली जिन्दा केन बम व 105 पीस इलेक्ट्रीक तार बरामद कर लिया। वही सीआरपीएफ ने नक्सलियो की दोनों शक्तिशाली जिन्दा केन बम को विस्फोट कर निस्क्रय कर दिया। तथा बरामद 105 पीस इलेक्ट्रीक तार को स्थानीय रहावन ओपी थाना को सौंप दिया। बीते दो दिन पूर्व बुधवार को झुमरा पहाड़ पर सीआरपीएफ ए/26 व ई/26 के संयुक्त छापेमारी में रोला व मुरपा के बीच जंगल में एक कुसुम पेड़ के नीचे झाड़ियों में पांच-पांच किलों के दो केन बम बरामद करने में सफलता मिली थी।

इसके तीसरे दिन शुक्रवार को भी सीआरपीएफ के संयुक्त छापेमारी में लुगू पहाड़ी के तलहटी में बसे डाका साड़म जंगल से 15-15 किलो का केन बम बरामद करने में कामयाबी मिली। छापेमारी का नेतृत्व सीआरपीएफ 26 बटालियन के सहायक कमाण्डेंट सिद्धार्थ कुमार गौतम कर रहे थे। उनके साथ केदला कैम्प ई/26 बटालियन के सहायक कमाण्डेंट नितेश सिंह भदौरिया व अन्य जवान शामिल थे। सीआरपीएफ सहायक कमाण्डेंट सिद्धार्थ कुमार गौतम ने बताया कि केदला कैम्प ई/26 व रहावन कैम्प ए/26 बटालियन के संयुक्त टीम ने अभियान के दौरान बरामद किया गया। जो सीआरपीएफ पुलिस की बड़ी सफलता है। वही आगे कहा कि झुमरा के तलहटी में सीआरपीएफ पुलिस संयुक्त रूप से नक्सल विरोधी अभियान तेज कर दिया है। नक्सलियों के मनसूबे को कभी पूरा नही होने देंगे।

बरामद बमों को डिफ्यूज कर दिया गया है। इसके पूर्व बीते दिनों 13 मार्च की देर शाम को दर्जनों नक्सलियों के एक दस्ते ने झुमरा से दुर्गम जंगल क्षेत्र में बसे बलथरवा ग्राम निवासी पारा शिक्षक जयलाल महतो पर मुखबिरी का आरोप लगाकर उनका घर बम से उड़ाकर क्षतिग्रस्त कर दिया था। इसके पहले जगलाल महतो की पत्नि के साथ मारपीट की थी। एकतरफ देखा जाय तो नक्सलियों ने जोरदार उपस्थिति दर्ज कराकर पुलिस को एक प्रकार की चुनौती भी दे दी थी। इसके बाद केदला व रहावन कैम्प के सीआरपीएफ बटालियन के संयुक्त रूप से नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान शुरू किया और बढ़ी सफलता मिली।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.