रेल-परिचालन को लेकर सांसद रवींद्र करेंगे अनशन

बोकारो: रांची-जयनगर एक्सप्रेस समेत मिथिला जाने वाली सभी तीन ट्रेनों के साथ-साथ रद्द की गयीं तमाम रेलों के पूर्ववत परिचालन को लेकर अब भाजपा के जनप्रतिनिधियों में अपनी ही सरकार के प्रति रोष देखा जा रहा है। बारंबार आग्रह के बावजूद इस दिशा में कोई ठोस कार्रवाई नहीं होने से आक्रोशित जनप्रतिनिधि अब आंदोलन के मूड में दिख रहे हैं। इसी कड़ी में गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद रवीन्द्र कुमार पांडेय ने अनशन और जोरदार आंदोलन करने की बात कही है।

रविवार को मिथिला जाने वाली ट्रेनों के पुनः परिचालन को लेकर अपने स्तर से हस्तक्षेप की मांग को लेकर पहुंचे एक प्रतिनिधिमंडल को उन्होंने यह आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि मिथिला के लोगों का उन्हें सदा साथ मिला है। उनके साथ उन्हें खास लगाव है। रद्द ट्रेनों को फिर चालू कराना उनकी जिम्मेदारी है, जिसे वह हर हाल में निभाएंगे। जरूरत पड़ी तो वह धरना देंगे और अनशन भी करेंगे।
विदित हो कि मिथिला सांस्कृतिक परिषद और सम्पूर्ण विप्र समाज के प्रतिनिधिमंडल ने सांसद पाण्डेय से मुलाकात कर रांची-जयनगर एक्सप्रेस सहित मिथिलांचल को जोड़ने वाली सभी ट्रेनों का नियमित परिचालन शुरू करवाने का आग्रह किया, जिस पर सांसद ने सकारात्मक कार्रवाई करवाने का आश्वासन दिया। सांसद पांडेय ने कहा कि चंद्रपुरा-धनबाद रेललाइन के बंद होने से लोगों के समक्ष उत्पन्न समस्या को लेकर उन्होंने संसद में भी अपनी आवाज बुलंद की है और जरूरत पड़ी तो सड़क पर भी उतरने से परहेज नहीं करेंगे।

प्रतिनिधिमंडल ने सांसद पाण्डेय द्वारा रद्द की गई ट्रेनों को चालू कराने की दिशा में किये जा रहे प्रयास के लिए उनके प्रति आभार भी व्यक्त किया और उन्हें बधाई दी। प्रतिनिधिमंडल में परिषद के पूर्व सचिव अमरेन्द्र कुमार झा, विजय कुमार झा, सम्पूर्ण विप्र समाज के महासचिव श्रवण कुमार झा, वरीय भाजपा नेता शशिभूषण ओझा ‘मुकुल’, मृणाल चौबे, पप्पू चौबे आदि मुख्य रूप से शामिल थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.