बिहार : पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र का निधन, 3 दिन का राजकीय शोक

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र का सोमवार को दिल्ली में निधन हो गया। वे 82 वर्ष के थे। डॉ़ मिश्र के निधन पर बिहार में शोक की लहर व्याप्त हो गई है। उनके निधन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुख जताते हुए राज्य में तीन दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की है। मिश्र के परिजनों के मुताबिक, वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे और उनका दिल्ली में इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान ही सोमवार सुबह उन्होंने अंतिम सांसें ली। डॉ़ मिश्र की पहचान बिहार की राजनीति में दिग्गज नेता के रूप में होती थी। बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके मिश्र की बचपन से ही राजनीति में रुचि थी। उन्होंने कॉलेज के प्रोफेसर के रूप में अपना करियर प्रारंभ किया परंतु वे फिर राजनीति में आ गए और कांग्रेस में शामिल हो गए।

डॉ़ मिश्र वर्ष 1975 से 1977 तक, 1980 से 1983 तक और 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। साल 1990 के दशक के मध्य में उन्होंने केंद्रीय मंत्रिपरिषद में भी जिम्मेदारी संभालीं। मिश्र वर्तमान समय में जनता दल (युनाइटेड) में थे। डॉ़ मिश्र के बड़े भाई ललित नारायण मिश्र भी केंद्रीय रेल मंत्री का दायित्व संभाल चुके थे। मिश्र को चर्चित चारा घोटाला में भी अदालत ने दोषी पाया था। मिश्र के निधन पर बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने शोक जताते हुए कहा, ”डॉ़ मिश्र एक कुशल प्रशासक, संवेदनशील राजनेता और अर्थशास्त्र के विद्वान प्राध्यापक थे। उनका निधन पूरे देश, खासकर बिहार के राजनीतिक जगत के लिए अपूरणीय क्षति है।” बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी डॉ़ मिश्र के निधन पर शोक जताया है।

नीतीश ने अपने शोक संदेश में कहा, ”मिश्र एक प्रख्यात राजनेता एवं शिक्षाविद थे। बिहार के साथ-साथ देश की राजनीति में उनका बहुमूल्य योगदान रहा है। उनके निधन से न केवल बिहार बल्कि पूरे देश की राजनीति, सामाजिक एवं शिक्षा के क्षेत्र के अपूरणीय क्षति हुई है।” मिश्र के निधन पर राज्य में तीन दिनों के राजकीय शोक की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। राज्य के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री नीरज कुमार ने भी पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, ”मिश्र लम्बे अरसे तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे और इसके बाद भी सार्वजनिक जीवन में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते रहे। उनके निधन की खबर दुखदायी है।” बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी डॉ़ मिश्र के निधन पर शोक प्रकट किया है।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.