बिहार : पहले चरण में 44 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे 70 लाख मतदाता

पटना: लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत बिहार की 40 में से चार सीटों के लिए गुरुवार को मतदान होगा। इन सीटोंं में औरंगाबाद, गया, नवादा, और जमुई शामिल हैं। औरंगाबाद में नौ, गया व नवादा में 13-13 और जमुई में नौ उम्मीदवार हैं। इस तरह प्रथम चरण में कुल 44 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है। बिहार के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बुधवार को बताया, ”बिहार में प्रथम चरण के चुनाव में कुल 70 लाख 37 हजार 966 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे, जिनके लिए 7,486 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।” इस चरण में सर्वाधिक मतदाता 18,92,017 नवादा संसदीय क्षेत्र में हैं, जबकि सबसे कम 17,00,641 मतदाता गया में हैं।

प्रथम चरण में प्रमुख प्रत्याशियों की बात करें तो गया से पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख जीतन राम मांझी चुनावी मैदान में खम ठोंक रहे हैं। महागठबंधन के उम्मीदवार मांझी को जबरदस्त टक्कर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के जनता दल (युनाइटेड) के विजय मांझी से मिल रही है। पिछले लोकसभा चुनाव में भी मांझी चुनाव मैदान में थे, परंतु उस समय वह जद (यू) के प्रत्याशी थे। हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इस चुनाव में जमुई सीट पर भी सभी की नजर बनी हुई है। यहां से राजग के घटक दल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान मैदान में हैं, तो वहीं महागठबंधन की ओर से भूदेव चौधरी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं।

पिछले चुनाव में चिराग पासवान यहां से राजद के सुधांशु शेखर को पराजित कर पहली बार लोकसभा पहुंचे थे।बिहार की महत्वपूर्ण सीटों में से एक नवादा में राजग से लोजपा के चंदन सिंह और महागठबंधन से राजद की विभा देवी मैदान-ए-जंग में आमने-सामने हैं। विभा देवी दुष्कर्म के मामले में सजा काट रहे विधायक राजबल्लभ यादव की पत्नी हैं। पिछले चुनाव में भाजपा के गिरिराज सिंह यहां से विजयी हुए थे, इस बार उन्हें बेगूसराय से पार्टी ने प्रत्याशी बनाया है। औरंगाबाद सीट से मौजूदा सांसद सुशील कुमार सिंह पर भाजपा ने एकबार फिर से विश्वास जताते हुए उन्हें चुनाव मैदान में उतारा है। उन्हें महागठबंधन के ‘हम’ प्रत्याशी उपेंद्र प्रसाद कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

‘मिनी चितौड़गढ़’ के नाम से जाने जाने वाले इस क्षेत्र में सुशील सिंह के सामने हैट्रिक लगाने की चुनौती है।
पहले चरण के चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार में अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भाजपा के सुशील मोदी, लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान चुनाव प्रचार में लगे रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गया और जमुई से ही बिहार में अपने चुनावी अभियान की शुरुआत की थी। बिहार में सभी सात चरणों में मतदान होना है। मतों की गिनती 23 मई को होगी।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.