मेरे बड़े भैया घास-फूस खाकर कर रहे देश की सेवा: पंकज मोदी

भिलाई: छत्तीसगढ़ प्रदेश साहू संघ के अभिनंदन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छोटे भाई पंकज मोदी ने संगठन और एकता पर बल दिया और कहा कि उनके बड़े भाई नरेंद्र मोदी घास-फूस खाकर देश की सेवा कर रहे हैं। गुजरात के गांधी नगर में सूचना विभाग के उपायुक्त पंकज ने साहू समाज का आव्हान किया कि सिर्फ राजनीति ही नहीं, बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी बढ़चढ़ कर योगदान देना है। विशेषकर कन्या भ्रूणहत्या रोकने और कन्या शिक्षा पर।

शनिवार की शाम शहर के एक होटल में आयोजित समारोह में पंकज मोदी का भव्य स्वागत हुआ। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा, ”यहां राजनीति में भागीदारी बढ़ाने की बात हो रही है, लेकिन मैं राजनीति से नहीं हूं। हमें राजनीति के अलावा दूसरे क्षेत्रों में भी अपनी सक्रियता बढ़ानी होगी।” उन्होंने कहा, ”नरेंद्र मोदी राजनीति में आए तो सीधे मुख्यमंत्री बने, लेकिन उसके पहले का उनका जीवन कैसा था, यह देखा जाना चाहिए।

गौर किया जाना चाहिए कि उन्होंने सेवाकार्य में कितना योगदान दिया और कौन-कौन से कष्ट झेले। राजनीति के अलावा ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं, जहां हम समाज को बदल सकते हैं।” पंकज ने गुजरात के कारडीय राजपूत समाज का जिक्र करते हुए बताया, ”इस समाज के लोगों का विभिन्न क्षेत्रों में प्रभुत्व है। पहले लगता था कि इनमें कुछ मिलीभगत है, लेकिन बाद में पता लगा कि इस समाज के लोगों ने अपने बच्चों के लिए शैक्षणिक अकादमियां खोल रखी हैं। जहां बच्चे के रुझान के अनुसार उसे मार्गदर्शन दिया जाता है। हमें भी ऐसे ही करने की जरूरत है।” उन्होंने कहा कि झारखंड में तैलिक समाज के लोग बेहद गरीबी में हैं और उनकी तुलना में छत्तीसगढ़ में इस समाज की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी है।

प्रधानमंत्री के छोटे भाई ने साहू समाज का आव्हान किया कि अपने समाज में सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन करवाने में सहायता करें और इसके साथ ही कन्या भ्रूणहत्या रोकने व बालिका साक्षरता पर भी ध्यान दें।

पंकज मोदी ने कहा, ”नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से तैलिक समाज की अपेक्षाएं बढ़ गई हैं। इसलिए हमें अपने समाज को शिक्षा की ओर ज्यादा अग्रसर करना होगा।” उन्होंने कहा, ”मेरे बड़े भाई 13 साल गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और पूरे कार्यकाल में टोकन मनी के तौर पर तनख्वाह लेते थे। उसमें से भी राशि बचा लेते थे और जब प्रधानमंत्री बने तो सचिवालय छोड़ने के समय उन्होंने यह पूरी की पूरी बचत राशि वहां के चतुर्थ श्रेणी कर्मियों के बच्चों की पढ़ाई के लिए दान दे दी। इसी तरह 13 साल मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्हें जो भी उपहार मिले थे, उन सब की नीलामी करवा कर उससे मिले करोड़ों रुपये बालिका साक्षरता योजना के लिए दे दी।” पंकज मोदी ने कहा कि उनके बड़े भाई ने व्यक्तिगत खर्च नहीं के बराबर किया है और घास-फूस खाकर सिर्फ देश को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं।

इससे पहले, अखिल भारतीय तैलिक महासभा के अध्यक्ष एन.टी. राठौर ने बताया, ”आज तैलिक समाज के 7 सांसद, 2 केंद्रीय मंत्री और विभिन्न राज्यों में 35 एमएलए हैं। वहीं इस समाज के गौरव नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से हम सब बेहद गौरवान्वित हैं। हमें समाज में और ज्यादा संगठित होने और अपनी ताकत बढ़ाने की जरूरत है।”

आयोजन में साहू समाज के प्रदेश अध्यक्ष विपिन साहू ने राजनीतिक स्थिति का पूरा ब्यौरा रखते हुए बताया, ”2 करोड़ 55 लाख की आबादी वाले छत्तीसगढ़ में 56 लाख की आबादी साहू समाज की है। इसके बावजूद राज्य में पिछड़ा वर्ग के लिए कहीं भी लोकसभा-विधानसभा की सीट आरक्षित नहीं है। राज्य में नौ विधायक और तीन सांसद हैं।” इस अवसर पर हाल ही में विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक के तौर पर सम्मानित धनेंद्र साहू को समाज की ओर से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर समाज के जनप्रतिनिधि व प्रमुख लोग मौजूद थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.