क्वितोवा को बाहर कर वीनस विलियम्स ने दिखाया दम

न्यूयार्क: अमेरिका की वीनस विलियम्स ने अपनी शानदार लय को बरकरार रखते हुये यहां यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उनका मुकाबला हमवतन स्लोएन स्टीफंस से होगा।37 साल की अनुभवी खिलाड़ी ने महिला एकल क्वार्टरफाइनल मुकाबले में 154 मिनट में क्वीतोवा की चुनौती को 6-3 3-6 7-6 से तोड़ते हुये नौ वर्षों के बाद अपना पहला ग्रैंड स्लेम जीतने की उम्मीदों को कायम रखा। वीनस ने वर्ष 2008 में विंबलडन में अपना आखिरी ग्रैंड स्लेम जीता था।

वर्ष 2000 और 2001 में यूएस ओपन खिताब जीत चुकी वीनस ने पहले सेट में 1-3 से पिछड़ने के बाद दो बार क्वीतोवा की सर्विस ब्रेक करते हुये पहला सेट जीता। लेकिन दूसरे सेट में चेक खिलाड़ी ने वापसी कर ली जो गत वर्ष चाकू के हमले के बाद कोर्ट पर फिर से वापसी कर रही हैं। हालांकि वह निर्णायक टाईब्रेक में आठ बार की ग्रैंड स्लेम विजेता का मुकाबला नहीं कर सकीं जिन्होंने आर्थर एश स्टेडियम में भारी घरेलू समर्थन के साथ सेट और मैच जीत लिया।

पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ने कहा” क्वीतोवा ने जो भी सहा है वह अविश्वसनीय है। मुझे उन्हें वापिस देखकर बहुत खुशी महसूस हो रही है। मैं भाग्यशाली हूं कि यह मैच जीत सकी।” वीनस को लेकिन अब फाइनल में जगह बनाने के लिये हमवतन 16वीं सीड स्टीफंस का सामना करना होगा।

पैर में चोट के कारण करीब एक वर्ष बाद वापसी कर रही स्टीफंस ने लात्विया की एनास्तासिजा सेवासोवा को तीन सेटों के संघर्ष में 6-3 3-6 7-6 से हराकर अंतिम चार में प्रवेश कर लिया। वह वर्ष 2004 के बाद से विलियम्स बहनों सेरेना और वीनस के बाद पहली अमेरिकी खिलाड़ी भी बन गयी हैं जिन्होंने यूएस ओपन सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

वर्ष 2013 में आस्ट्रेलियन ओपन सेमीफाइनलिस्ट रहीं स्टीफंस ने कहा” मेरी आंखों में आंसू आ गये हैं। विंबलडन के बाद जब मैंने वापसी की तब मैंने सोचा नहीं था कि मैं यहां तक पहुंच पाऊंगी। यह मेरा पसंदीदा टूर्नामेंट है।” वीनस और स्टीफंस में से हालांकि कोई एक ही फाइनल का टिकट हासिल कर पाएगा।

पुरूषों के ड्रा में स्पेन के पाब्लो कारीनो बुस्ता ने भी पहली बार ग्रैंड स्लेम सेमीफाइनल में जगह बना ली। उन्होंने अर्जेंटीना के डिएगो श्वाट्जमैन को 6-4 6-4 6-2 से लगातार सेटों में हराया और दो घंटे से भी कम समय में जीत अपने नाम कर ली। बुस्ता ने मैच में 30 विनर्स लगाये और उन्होंने अभी तक एक भी सेट नहीं गंवाया है।

स्पेनिश खिलाड़ी के सामने अगले दौर में अब दक्षिण अफ्रीका के छह फुट आठ इंच लंबे खिलाड़ी केविन एंडरसन की चुनौती रहेगी। एंडरसन ने अपने अंतिम आठ मुकाबले में घरेलू खिलाड़ी सैम क्वेरी को मैराथन मैच में 7-6 6-7 6-3 7-6 से मात दी और करियर में पहली बार ग्रैंड स्लेम सेमीफाइनल में पहुंचे। उन्होंने तीन घंटे 26 मिनट में मुकाबला जीता और मैच में 22 एस तथा 67 विनर्स लगाये।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.