फॉलोऑन के बाद श्रीलंका का सराहनीय संघर्ष

कोलंबो: ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन(69 रन पर पांच विकेट)की जोरदार गेंदबाजी की बदौलत भारत ने मेजबान श्रीलंकाई क्रिकेट टीम को दूसरे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन शनिवार को पहली पारी में 183 रन के मामूली स्कोर पर ढेर कर दिया। लेकिन फॉलोआन खेलने के बाद श्रीलंका ने बेहतरीन वापसी करते हुये दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट खोकर 209 रन बना लिये।

भारत को पहली पारी में 439 रन की विशाल बढ़त हासिल हुई और कप्तान विराट कोहली ने इस बार श्रीलंका को फॉलोआन खेलने के लिये मजबूर किया। गाले में पहले टेस्ट में भी भारत के पास ऐसा ही मौका था लेकिन तब विराट ने श्रीलंका से फॉलोआन नहीं कराया था। श्रीलंका अभी भारत की बढ़त से 230 रन पीछे है और उस पर हार का खतरा बना हुआ है।

श्रीलंका को पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों ने जिस तरह 49.4 ओवर में 183 रन के स्कोर पर समेट दिया था उसे देखते हुये विराट ने इस बार मेजबान टीम को फॉलोआन खेलाने का फैसला किया। भारत ने अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 622 रन पर घोषित की थी। श्रीलंका ने फॉलोआन के बाद दूसरी पारी में जबरस्त संघर्ष किया। कुशल मेंडिस (110) और ओपनर दिमुथ करूणारत्ने (नाबाद 92) ने दूसरे विकेट के लिये 191 रन की बड़ी साझेदारी कर भारत के इंंतजार को बढ़ा दिया।

श्रीलंका ने दूसरी पारी में अपना पहला विकेट मात्र सात रन के स्कोर पर गंवा दिया जब उमेश यादव ने उपूल तरंगा को बोल्ड कर दिया। तरंगा ने मात्र दो रन बनाये। इसके बाद करूणारत्ने और मेंडिस ने दूसरे विकेट के लिये 191 रन की साझेदारी की। मेंडिस ने 135 गेंदों पर 17 चौकों की मदद से 110 रन बनाये जो उनके करियर का तीसरा शतक है।

ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने मेंडिस को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा। दिन की समाप्ति पर करूणारत्ने 200 गेंदों में 12 चौकों की मदद से 92 और मलिंडा पुष्पकुमारा दो रन बनाकर क्रीज पर थे।

इससे पहले 2000 रन और 200 विकेट के एलीट क्लब में शामिल हो गये अनुभवी अश्विन ने मैच में 16.4 ओवर में 69 रन देकर सर्वाधिक पांच विकेट निकाले और श्रीलंका की पहली पारी को सस्ते में समेट दिया। टेस्ट में यह अश्विन के लिये 26वां मौका है जब उन्होंने पारी में पांच विकेट निकाले हैं। इसके अलावा तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को 13 रन पर दो विकेट, रवींद्र जडेजा को 84 रन पर दो विकेट और उमेश यादव को 12 रन पर एक विकेट हाथ लगा।

श्रीलंका ने सुबह अपनी पारी की शुरूआत 20 ओवर में दो विकेट पर 50 रन से आगे बढ़ाते हुये की थी। उसके बल्लेबाज मेंडिस 16 रन और दिनेश चांडीमल आठ रन बनाकर क्रीज पर थे। लेकिन दोनों ही बल्लेबाज दबाव के सामने ज्यादा देर टिक नहीं सके और सुबह मात्र 10 रन बाद ही कप्तान चांडीमल ने अपना विकेट जडेजा के हाथों गंवा दिया।

हार्दिक पांड्या ने चांडीमल का कैच लपका जो 34 गेंदों में एक छक्के की मदद से 10 रन बनाकर आउट हुये।मेंडिस भी ज्यादा देर नहीं टिके और उन्होंने 64 गेंदों में चार चौके लगाकर 24 रन बनाये। उन्हें यादव ने कप्तान विराट कोहली के हाथों कैच कराया। अनुभवी ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज ने 33 गेंदों में दो चौके और दो छक्के लगाकर 26 रन बनाये। वह अच्छी स्थिति में दिख रहे थे कि अश्विन ने उन्हें चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच करा दिया और श्रीलंका की आधी टीम 117 रन के स्कोर पर पवेलियन लौट गयी।

विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने विषम परिस्थितियों में टीम के लिये अर्धशतकीय पारी खेली और 48 गेंदों में सात चौके और एक छक्का लगाकर 51 रन बनाये जो श्रीलंकाई पारी का सर्वाधिक स्कोर रहा। लेकिन भारत के 600 के स्कोर के सामने यह टीम को फॉलोऑन से बचाने के लिये काफी नहीं था। धनंजय डी सिल्वा एक ही गेंद खेल सके थे कि शून्य पर उन्हें जडेजा ने बोल्ड कर दिया।

दिलरूवान परेरा ने 34 गेंदों में तीन चौके और एक छक्का लगाकर 25 रन की तेज पारी खेली जिन्हें फिर अश्विन ने बोल्ड किया। लेफ्ट आर्म स्पिनर रंगना हेरात को दो रन पर शमी ने बोल्ड किया और नुवान प्रदीप को शून्य पर अश्विन ने बोल्ड कर श्रीलंका की पारी का आखिरी विकेट निकाला। पुष्पकुमारा 15 रन पर नाबाद रहे और मेजबान टीम की पारी 183 रन पर सिमटने के साथ ही लंच हो गया। श्रीलंका ने अपने आखिरी आठ विकेट केवल 123 रन जोड़कर गंवा दिये।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.