अब अरुण जेटली स्टेडियम के नाम से जाना जाएगा कोटला स्टेडियम

नई दिल्ली: भारत के सबसे पुराने स्टेडियमों में से एक ऐतिहासिक -फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का नाम अब अरुण जेटली स्टेडियम होगा। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने गुरुवार को यहां जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में एक कार्यक्रम आयोजित अपने मरहूम पूर्व अध्यक्ष को सम्मानित किया। साथ ही इस स्टेडियम के पवेलियन का नाम भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली के नाम पर कर दिया गया। समारोह में इसका भी औपचारिक ऐलान किया गया। साथ ही टीम इसी समारोह के भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री को भी सम्मानित किया गया।

डीडीसीए द्वारा आयोजित किए गए इस समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, खेल मंत्री किरण रिजिजू, केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल, पूर्व खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौर के अलावा कई राजनेता उपस्थित रहे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और प्रशासको की समिति (सीओए) ने भी कार्यक्रम में उपस्थिति रहे। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टी-20 मैचों के लिए चुनी गई भारतीय टीम के सभी सदस्य भी इस समारोह में मौजूद रहे। इनके अलावा कई पूर्व खिलाड़ियों ने भी कार्यक्रम में शिरकत की जिसमें कपिल देव, अजय जडेजा, अतुल वासन के नाम शामिल हैं। इस दौरान जेटली का परिवार भी उपस्थित रहा।

डीडीसीए ने हालांकि 27 अगस्त को इस बात की जानकारी दे दी थी कि इस स्टेडियम का नाम भारतीय जनता पार्टी के दिवंगत नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के नाम पर रखा जाएगा, जिनका बीते दिनों दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया था। जेटली लंबे समय तक डीडीसीए के अध्यक्ष भी रहे थे। पूर्व केंद्रीय मंत्री जेटली का 24 अगस्त को लंबी बीमारी के बाद एम्स अस्पताल में निधन हो गया था। जेटली ने डीडीसीए का अध्यक्ष रहते हुए फिरोज शाह कोटला में पुनर्निर्माण कराया था, जिसमें आधुनिक सुविधाएं, दर्शकों के बैठने की क्षमता, विश्व स्तरीय ड्रेसिंग रूम आदि शामिल हैं।

इस मौके पर डीडीसीए के अध्यक्ष रजत शर्मा ने कहा, ”वह 13 साल डीडीसीए के अध्यक्ष रहे। दिल्ली के सभी क्रिकेटर जेटली जी को बड़े आदर से याद करते हैं क्योंकि जेटली ने सभी को बड़ा खिलाड़ी बनाने में मदद की। जेटली की यादों को सहजने के लिए और उन्हें अमर बनाने के लिए इससे अच्छा और कुछ नहीं हो सकता।” इस मौके पर विराट ने कहा, ”इतने बड़े स्तर पर मुझे सम्मानित किया जाएगा, मैंने सोचा नहीं था। मैं रजत शर्मा, भारतीय टीम, दिल्ली की पुरानी तथा नई टीमों, बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। मेरे पास शब्द नहीं हैं। मेरे बचपन के कोच राकेश शर्मा को शुक्रिया अदा करता हूं। मैंने कभी सोचा नहीं था कि मुझे यह सम्मान मिलेगा।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.