लंदन में आईसीसी ने नये संविधान को दी मंजूरी

नयी दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) ने वैश्विक संस्था के लिये नये संविधान को मंजूरी दे दी है जो क्रिकेट प्रशासन में व्यापक और आधारभूत ढांचे के बदलाव की नींव रखेगा।

आईसीसी ने गुरूवार को लंदन में हुई अपनी सालाना बैठक में यह निर्णय लिया। इससे पहले अप्रैल में कई चरण की बैठकों के बाद वैश्विक संस्था के संचालन में व्यापक बदलावों के लिये बोर्ड ने नये संविधान के लिये 8-2 से वोट देकर उसपर सहमति दी थी।

नये संविधान के तहत अब केवल दो तरह की सदस्यता होगी पूर्णकालिक और एसोसिएट। आईसीसी बोर्ड में स्वायत्त महिला निदेशक की नियुक्ति, आईसीसी बोर्ड में सदस्यों के मतों की संख्या अब 17 होगी जिसमें 12 पूर्णकालिक सदस्यों के साथ तीन एसोसिएट, एक स्वायत्त महिला निदेशक और चेयरमैन शामिल हैं।

आईसीसी में उपाध्यक्ष के नये पद को बनाना भी शामिल है जो अध्यक्ष की अनुपस्थिति में उनकी जगह संभालेगा तथा सभी सदस्यों की स्थिति पर नज़र रखने के लिये सदस्यों की समिति बनाना शामिल है। गौरतलब है कि अप्रैल में नये ढांचागत बदलाव के लिये हुई बैठक में केवल भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) और श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने ही विरोध जताया था।

हालांकि इन बोर्डों और आईसीसी के बीच समझौते के प्रयास किये जा रहे थे और समझा जाता है कि इन मसलों के हल होने के बाद ही वैश्विक संस्था ने नये संविधान को अपनी हरी झंडी दे दी है। आईसीसी ने अपनी सालाना बैठक के यहां समाप्त होने के बाद जारी बयान में कहा” आईसीसी ने अफगानिस्तान और आयरलैंड को पूर्णकालिक सदस्यों का दर्जा देने का एकमत फैसला नये संविधान के तहत नये सदस्यता मसौदे के तहत स्वीकार करने के बाद लिया गया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.