विश्व कप : मुश्किलों में घिरे मेजबान के सामने भारत की अजेय चुनौती

बर्मिंघम: आईसीसी विश्व कप-2019 में एक मुकाबले का पूरे क्रिकेट जगत को बेसब्री से इंतजार था। यह मुकाबला उन दो टीमों के बीच का है, जिन्हें इस विश्व कप की दो सबसे बड़ी दावेदार और मजबूत टीमों में गिना जा रहा है। यह दोनों टीमें हैं मेजबान इंग्लैंड और भारत। रविवार को एजबेस्टन में इस विश्व कप का सभवत: सबसे रोचक और कड़ा मुकाबला खेला जाएगा। मौजूदा फॉर्म को अगर देखा जाए तो भारत का पलड़ा भारी है क्योंकि अभी तक वह अजेय है। वहीं, इंग्लैंड को श्रीलंका और पाकिस्तान से अप्रत्याशित हार मिली हैं जिसके कारण उसकी सेमीफाइनल में पहुंचने की स्थिति डगमगाई हुई है।

इंग्लैंड को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए किसी भी सूरत में भारत को हराना होगा। तभी वह अंतिम-4 की रेस में बनी रहेगी। ऐसे में इयोन मोर्गन की टीम से उम्मीद की जाती है कि वह इस मैच में अपनी पूरी ताकत झोंकेगी। इसके बाद उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ भी मैच जीतना होगा तभी वह सेमीफाइनल में पहुंचेगी। बेहतरीन फॉर्म में चल रही भारतीय टीम को इस मैच में जीत सेमीफाइनल में पहुंचा देगी। उसे सेमीफाइनल में जाने के लिए तीन मैचों में एक अंक की जरूरत है। इंग्लैंड को बीते मैचों में मिली हार का भूत सता रहा है तो वहीं भारत को बीते मैचों में लचर प्रदर्शन करने वाली बल्लेबाजी का, खासकर नंबर-4 के बल्लेबाज का।

नंबर-4 पर विजय शंकर को मौके मिले लेकिन वह मौकों को भुना नहीं पाए। अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में उनके पास समय भी था जिसमें वे बड़ी पारी खेल अपनी जगह को पक्की कर सकते थे लेकिन शंकर पूरी तरह से नाकाम रहे। शंकर की विफलता टीम प्रबंधन के लिए चिंता का विषय है। ऐसे में इंग्लैंड के खिलाफ अहम मैच में दिनेश कार्तिक को या ऋषभ पंत को मौका मिल सकता है। वहीं भारत के शीर्ष क्रम ने तो बढ़िया किया है लेकि मध्य क्रम से अभी तक कोई बेहतरीन पारी देखने को नहीं मिली है। महेंद्र सिंह धोनी रन तो कर रहे हैं लेकिन जिस गति से वह रन बना रहे हैं वो ज्यादा अच्छी नहीं है। केदार जाधव ने भी खासा प्रदर्शन नहीं किया है। हार्दिक ने पिछले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ धोनी के साथ अच्छी बल्लेबाजी की थी लेकिन जिस आक्रामकता से वह रन करते हैें वो दिखी नहीं थी।

दूसरी तरफ इंग्लैंड ने शुरुआत तो बेहतरीन की थी, लेकिन बीच में वो रास्ता भटक गई है। इंग्लैंड जिस ‘बडे स्कोर वाली टीम’ का तमगा लेकर आई थी वो उसने ज्यादा सार्थक नहीं किया है। श्रीलंका कोे खिलाफ तो वह कम स्कोर को भी हासिल नहीं कर पाई थी। इंग्लैंड की बल्लेबाजी में बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज तो हैं लेकिन वह मजबूत भारतीय गेंदबाजी के सामने टिक पाते हैं या नहीं यह देखना होगा। जॉनी बेयरस्टो, जोस बटलर, इयोन मोर्गन, बेन स्टोक्स, जोए रूट के नाम ही किसी भी गेंदबाज को डराने के लिए काफी हैं। लेकिन भारत का आक्रमण भी कम नहीं है। जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी बेहतरीन फॉर्म में हैं तो वहीं मध्य के ओवरों में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव से पार पाना इंग्लैंड के लिए चुनौती रहेगा।

इंग्लैंड को बीते मैचों में जेसन रॉय की कमी जरूर खली थी जो चोट के कारण बाहर हो गए थे लेकिन ऐसी खबरें हैं कि रॉय भारत के खिलाफ मैच में वापसी कर सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो भारत को और ज्यादा चौकन्ना रहना होगा क्योंकि बेयरस्टो और रॉय एक जोड़ी के रूप में खूंखार हो जाते हैं। कुल मिलकार यह मैच इस विश्व कप का सबसे अहम मैच है। रोमांच और बेहतरीन क्रिकेट इस मैच में दर्शकों को भी बांधे रखेगी और साथ ही दोनों टीमों की स्थितियों को भी साफ करेगी।
टीमें (संभावित) :
भारत : विराट कोहली (कप्तान), जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल, शिखर धवन, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, लोकेश राहुल, मोहम्मद शमी, विजय शंकर, रोहित शर्मा, कुलदीप यादव।

इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), जोस बटलर, टॉम कुरैन, लियाम डॉसन, लियाम प्लंकट, आदिल राशिद, जोए रूट, बेन स्टोक्स, जेम्स विंस, क्रिस वोक्स, मार्क वुड।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.