विजय हजारे ट्रॉफी : दूसरे सेमीफाइनल में झारखंड के सामने दिल्ली की चुनौती

बेंगलुरू: विजय हजारे ट्रॉफी के दूसरे सेमीफाइनल में गुरुवार को झारखंड का सामना मजबूत दिख रही दिल्ली से होगा। दोनों टीमें यहां के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में आमने-सामने होंगी। इस मैच को जीतने वाली टीम शनिवार को होने वाले फाइनल में मुंबई से भिड़ेगी। झारखंड के लिए यह मैच आसान नहीं होगा क्योंकि जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही दिल्ली पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ एक मैच हारी है। वह लगातार अपने हरफनमौला खेल से जीत की राह पर बनी हुई है। दिल्ली ऐसी टीम नहीं है जो किसी एक खिलाड़ी के दम पर हो। बेशक कप्तान गौतम गंभीर 498 रन बनाकर टीम के सर्वोच्च स्कोरर बने हुए हैं लेकिन नीतिश राणा, ध्रूव शौरे, उन्मुक्त चंद का बल्ला भी चलता ही रहा है। वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली जाने वाली वनडे सीरीज से पहले ऋषभ पंत भी इस मैच में हाथ आजमा सकते हैं।

इन सभी के लिए हालांकि झारखंड के गेंदबाजी आक्रमण का सामना करना आसान नहीं होगा। उसकी गेंदबाजी ही उसे यहां तक पहुंचाने में सबसे ज्यादा मददगार साबित हुई है। शाहबाज नदीम और वरुण एरॉन की जोड़ी ने शानदार प्रदर्शन किया है। नदीम अपनी फिरकी से अभी तक इस टूर्नामेंट में आठ मैचों में 22 विकेट ले चुके हैं जबकि एरॉन सात मैचों में 16 विकेट अपने नाम कर चुके हैं। इन दोनों के अलावा युवा हरफनमौला खिलाड़ी अनुकूल रॉय, मोनू कुमार भी दिल्ली के बल्लेबाजों को परेशान करने का दम रखते हैं।
झारखंड को बल्लेबाजी में आस ईशान किशन के युवा कंधों पर होगी। वह आठ मैचों में अभी तक 405 रन बना चुके हैं। उनके अलावा झारखंड का कोई और बल्लेबाज उनके आस-पास भी नहीं भटक सका है। आनंद सिंह ने 285 रन बनाए, लेकिन सौरभ तिवारी का अनुभव टीम की बल्लेबाजी के लिए अहम रहेगा। बल्ले से विराट सिंह भी कमाल करने का दम रखते हैं।

दिल्ली की गेंदबाजी औसत ही रही है, लेकिन कुलवंत खेजरोलिया झारखंड के लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं। इस गेंदबाज ने अभी तक इस टूर्नामेंट में सिर्फ चार मैच खेल हैं और 12 विकेट ले चुके हैं। नवदीप सैनी से भी दिल्ली को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.