गर्मियों में ऐसे करें कार का रख रखाव

नयी दिल्ली:   तेज गर्मी आपकी कार पर काफी भारी साबित हो सकती है, खासतौर पर ज्यादा तापमान में बैटरी के नष्ट होने, कूलिंग सिस्टम और टायर्स पर दबाव बनने की आशंका रहती है। ऐसे में कुछ टिप्स पर अमल कर इन परेशानियों से बचा जा सकता है।

जाने माने ऑटो एक्सपर्ट एवं कार एक्सपर्ट के सह-संस्थापक और निदेशक कर्नल वाई.एस. कटोच गर्मियों में कार के रख-रखाव के कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिनका पालन करके ब्रेकडाउन और कार संबंधी अन्य समस्याओं से बच सकते हैं।

कार एसी की सर्विस कराएं : आमतौर पर एसी के ठीक से काम नहीं करने का कारण कूलैंट का स्तर कम होना और गैस का रिसाव होना होता है। ऐसे में कार एसी की सर्विस हर तीन साल पर या जरूरत पड़ने पर कराते रहना चाहिए। कार एसी की नियमित सर्विस से भयंकर गर्मी के इस दौर में बड़ी राहत मिलेगी।

समय-समय पर ऑयल बदलना : केवल ज्यादा तापमान ही इंजन के ओवरहीट होने का कारण नहीं होता, बल्कि ज्यादा लोगों के सवार होने से भी इंजन ज्यादा गर्म होता है। यदि इंजन ऑयल का रंग काला पड़ गया है तो समझिए ऑयल बदलने का समय आ गया है। समय पर ऑयल की जांच और समय पर बदलने से गर्मियों में इंजन की ओवरहीटिंग से बच सकते हैं।

गाड़ी की खिड़कियां थोड़ी खुली रखें : जब कार गर्मी के मौसम में सीधे धूप में खड़ी हो तो गाड़ी की खिड़कियां थोड़ी खुली रखें जिससे क्रॉस-वेंटिलेशन में मदद मिलेगी और गर्म हवा केबिन से बाहर निकल जाएगी। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि खिड़की ज्यादा न खोलें क्योंकि सुरक्षा के हिसाब से खतरा हो सकता है।

चमड़े की सीटों पर कॉटन का कवर चढ़ाकर रखें : चमड़े की सीटें ज्यादा आकर्षक दिख सकती हैं, लेकिन गर्मियों में ये काफी परेशान कर सकती हैं। कार की लेदर सीट्स और कवर सीधे धूप के संपर्क में आने से बहुत गर्म हो जाती हैं। सीटों को कॉटन कवर से ढकने से उनके तापमान को कम करने में मदद मिलेगी।

कूलेंट का सही मिश्रण : गर्मियों के दौरान कूलैंट में एंटी-फ्रीज और जल का बराबर का मिश्रण होना चाहिए। विशेषज्ञों के मुताबिक ज्यादातर वाहनों में कूलैंट हर वर्ष बदलना चाहिए क्योंकि यह कूलिंग सिस्टम को अंदर से ताजा और स्वच्छ रखेगा। कार का सामान्य चेकअप जंग को दूर रखेगा और सुनिि>त करता है कि कूलैंट उचित बॉइलिंग प्वाइंट और प्रोटेक्शन पर रहे।

सनशेड्स या विंडो वाइजर : गाड़ी चला रहे हों या नहीं चला रहे हों जब गाड़ी धूप में है तो सूरज के तेज प्रकाश में डैशबोर्ड बहुत गर्म हो जाता है। किसी कवर से इसे रोका जा सकता है जिससे केबिन को ठंडा रखने में मदद मिलती है। इसके अलावा पिछली खिड़कियों पर शेड्स लगाए जा सकते हैं, जिससे सीटों और डैशबोर्ड को गर्म होने से बचाया जा सकता है।

सफाई : यह अनिवार्य नहीं है, लेकिन जब कार से लंबी यात्रा की योजना बनाएं तो अपनी कार को ठीक से साफ करें। गर्मियों में खासतौर पर कार की सफाई आपकी कार के इंजन को अधिक गर्म होने से बचा सकता है, क्योंकि इंजन पर जमा गंदगी और कचरा गाड़ी के इंजन को अनावश्यक रूप से गर्म करते हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.