महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें, शायद आप नहीं जानते

महात्मा गांधी अपने आदर्शों और अहिंसा के संदेश के चलते दुनियाभर में आज भी एक महान सख्शियत के तौर पर याद किये जाते हैं। गांधी जी के जीवन से जुड़े कई रोचक पहलूं हैं जिसे आप शायद ही जानते हों। गांधी जी को ना सिर्फ भारत बल्कि दुनिया में भी विशेष ख्याति प्राप्त है। इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि दुनिया के महान वैज्ञानिकों में शुमार आइंस्टीन ने कहा था कि कुछ सालों बाद लोग इस बात पर यकीन नहीं करेंगे कि महात्मा गांधी जैसे सख्श कभी भी इस धरती पर हाड़ मांस का शरीर लेकर चलता था।

* महात्मा गांधी को पांच बार नोबेल पीस प्राइज के लिए नामांकित किया गया था।

* महात्मा गांधी कांग्रेस पार्टी को भंग करने पर विचार कर रहे थे।

* महात्मा गांधी की अंतिम यात्रा 8 किलोमीटर तक चली थी।

* गांधी जी को सम्मान देने के लिए एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स गोल चश्मा पहनते थे।

* महात्मा गांधी हर रोज 18 किलोमीटर पैदल चलते थे। इस लिहाज से गांधी जी पुरी दुनिया के दो चक्कर लगा सकते हैं।

* गांधी जी नकली दांत लगाते थे, जिसे वह अपने कपड़े में रखते थे।

* गांधी जी के नाम से भारत में 53 मुख्य मार्ग हैं जबकि विदेशों में 48 सड़के हैं।

* स्वतंत्रता दिवस की रात गांधी जी नेहरू जी का भाषण सुनने के लिए गांधी जी मौजूद नहीं थे, उस दिन गांधी जी उपवास पर थे।

* गांधी जी के कपड़ों सहित उनकी कई वस्तुएं आज भी मदुरई के म्युजियम सुरक्षित है

* अपने पूरे जीवन में गांधी जी ने कभी कोई राजनीति पद नहीं लिया

  • दक्षिण अफ्रीका में महात्मा गांधी को 15 हजार डॉलर मिलते थे जो आजके तकरीबन 10 लाख रुपए के बराबर है।
    * महात्मां गांधी की वजह से चार कॉटिनेंट और 12 देशों में सिविल राइट मूवमेंट शुरु हुआ था।

    * जिस अंग्रेजी सरकार के खिलाफ गांधीजी ने आंदोलन किया उसी अंग्रेजी सरकार ने महात्मा गांधी की मौत 21 साल बाद उनके सम्मान में स्टांप जारी किया था

    * गांधी जी ने बोएर युद्ध में बतौर सैनिक हिस्सा लिया था।

    * महात्मा गांधी ने आइंस्टीन, हिटलर, टॉलस्टॉय सहित कई विख्यात हस्तियों से मुलाकात की थी।

    * गांधी जी ने डरबन, प्रीटोरिा और जॉहिनसबर्ग में फुटबाल क्लब स्थापित करने में मदद की थी, जिनके नाम पैसिव रेसिस्टर्स सॉकर क्लब है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.