गुजरात राज्यसभा सीट पर हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद अहमद पटेल जीते

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी जीते

नई दिल्ली: गुजरात में हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद अहमद पटेल चुनाव जीत गए हैं। कांग्रेस के अहमद पटेल को 44 वोट मिले, उन्हें जीत के लिए इतने ही वोटों की जरूरत थी। राज्यसभा सीट पर उनके मुकाबले भाग्य आजमा रहे बलवंत सिंह राजपूत को केवल 38 वोट ही मिल सके। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को 46-46 वोट मिले।

इससे पहले जो हुआ वह राज्यसभा चुनाव के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ था। अपने दो विधायकों की क्रॉस वोटिंग से नाराज कांग्रेस ने चुनाव आयोग का दरवाज़ा खटखटाया और पोलिंग एजेंट को अपना बैलेट दिखाने वाले दोनों विधायकों का वोट रद्द करने की मांग की। जवाब में भाजपा भी चुनाव आयोग पहुंची और कांग्रेस की इस अर्जी को न मानने की अपील की। कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत करते हुए कहा कि इन दोनों विधायकों ने अपने पोलिंग एजेंट को वोट दिखाने के बजाय भाजपा नेताओं को दिखाया, जबकि नियमानुसार केवल अपनी पार्टी के एजेंट को ही वोट दिखाना होता है।

चुनाव आयोग ने उस घटना के वीडियो फुटेज को देखने के बाद दोनों विधायकों के वोटों को अमान्‍य कर दिया। यह वोट रद्द होने के बाद 176 विधायकों के वोटों की संख्‍या घटकर 174 हो गई। इसके बाद हर प्रत्‍याशी को जीतने के लिए 44 वोटों की दरकार थी। पहले इसके लिए 45 वोट चाहिए थे। अहमद पटेल को कुल 44 वोट ही मिले थे। नए गणित की बदौलत वह इन वोटों में ही जीत गए।

कांग्रेस की इस जीत पर पी चिदंबरम ने ट्वीट किया है कि गुजरात राज्यसभा चुनाव में पैसा, बाहुबल और जोड़-तोड़ नहीं जीत सकी। भाजपा ज़ोर कांग्रेस विधायकों को तोड़ सकती है, लेकिन कांग्रेस पार्टी को नहीं तोड़ सकती। जीत के बाद अहमद पटेल ने कहा कि इससे कांग्रेस में एक नई ऊर्जा, नई शक्ति आई है।

कांग्रेस को बल मिला है, इससे पार्टी, संगठन को फ़ायदा होगा। उन्होंने कहा कि यह बेहद मुश्किल चुनाव था, लेकिन अंत अच्छा हुआ। पूरी सरकार हमें रोकने में लगी थी, बावजूद इसके हम जीत गए। उन्होंने जीत के बाद ट्वीट किया- सत्यमेव जयते! यह सिर्फ मेरी जीत नहीं है, बल्कि ये धनशक्ति, बाहुबल और स्टेट मशीनरी के दुरुपयोग की करारी हार है। कांग्रेस के भरत सिंह सोलंकी ने ट्वीट किया, ‘पैसा, बाहुबल और भाजपा की गंदी हरकतें नाकाम हो गईं।’ गुजरात राज्यसभा चुनाव में मतदान के बाद शंकर सिंह वाघेला ने कहा कि मैंने अहमद पटेल को वोट नहीं दिया। कांग्रेस को वोट देने का मतलब ही नहीं है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मुझे अहमद पटेल को वोट न देने का अफसोस है।

जहां कांग्रेस इसे सत्य की जीत बता रही है, वहीं भाजपा चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कह रही है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने कहा कि चुनाव आयोग के फैसले से हम सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इस मसले पर हम अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि चुनाव आयोग ने जिस सीडी के आधार पर अपना फैसला सुनाया है, उसमें हमारे पोलिंग एजेंट नहीं दिख रहे हैं। सीडी में शक्ति सिंह गोहिल आक्रामक दिख रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.