अमित शाह ने गांधीनगर से नामांकन-पत्र दाखिल किया

गांधीनगर: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को गांधीनगर लोकसभा सीट से अपना नामांकन-पत्र दाखिल किया और पार्टी के वरिष्ठ नेता एल.के. आडवाणी की विरासत को आगे बढ़ाने का वादा किया।आडवाणी 1998 से इस सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं, लेकिन इसबार उन्हें टिकट नहीं दिया गया।अपना पहला लोकसभा चुनाव लड़ रहे शाह ने लोगों से प्रधानमंत्री के हाथों को मजबूत करने के लिए राज्य की सभी 26 लोकसभा सीटों पर भाजपा को जिताने का आग्रह किया। इसके साथ ही उन्होंने मोदी को ‘गुजरात का बेटा’ भी कहा।

शाह के साथ केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख प्रकाश सिंह बादल, लोजपा प्रमुख राम विलास पासवान मौजूद थे। आडवाणी हालांकि इस अवसर पर मौजूद नहीं थे।नामांकन भरने से पूर्व, भाजपा अध्यक्ष और पार्टी के अन्य नेताओं ने नारनपुरा में लोगों को संबोधित किया और भव्य रोडशो किया।जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि उन्हांेने जो कुछ भी जिंदगी में हासिल किया है, वह भाजपा की वजह से हासिल किया है।

उन्होंने कहा, ”अगर मेरी जिंदगी से पार्टी हटा दिया जाए तो मैं जीरो हो जाऊंगा। मैं अपनी राजनीतिक यात्रा इसी संसदीय क्षेत्र के बूथ स्तर के कार्यकर्ता के रूप में शुरू की थी, जहां से मैं पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद अपना नामांकन भर रहा हूं।” राज्यसभा सदस्य शाह ने कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि उन्होंने उस सीट से अपना नामांकन भरा है, जिस सीट का पी.वी. मावलंकर, अटल बिहारी वाजपेयी, आडवाणी जैसे दिग्गजों ने प्रतिनिधित्व किया है।

उन्होंने कहा, ”गांधीनगर देश का सबसे ज्यादा विकसित संसदीय क्षेत्र है। मैं आडवाणी की विरासत को आगे बढ़ने का प्रयास करूंगा।” उन्होंने कहा, ”यह निि>त है कि मोदीजी एक बार फिर प्रधानमंत्री बनेंगे।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.