नक्सली हमले के विरोध में सुकमा जिला पूर्णत बंद

जगदलपुर:  नक्सलियों द्वारा छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 25 जवानों की क्रूर हत्या, रोज-बरोज नक्सली हिंसा और खूनखराबे के विरोध में आज आयोजित संभागीय मुख्यालय एवं सुकमा जिला बंद पूर्णत: सफल रहा।

व्यापारियों ने स्वस्फूर्त अपना तमाम कारोबार एवं प्रतिष्ठान बंद रखा। बस्तरवासियों में नक्सलियों के खिलाफ भारी आक्रोश एवं घृणा का लावा उबलता दिखायी पड़ा। संभवत: बस्तर के इतिहास में ऐसा पहला मौका है, जब बस्तरवासियों ने नक्सलियों के खिलाफ खुलकर अपनी आवाज बुलंद की और स्वस्फूर्त बंद को शत-प्रतिशत सफल बनाया।

जवानों की हत्या के विरोध में बंद का व्यापक असर रहा, दुकानें सुबह से बंद रहीं। छोटी गुमटियां और चाय की दुकान तक नहीं खुलीं। केवल इक्का-दुक्का मेडिकल स्टोर्स ही खुले हुए थे। बंद के चलते आम जनजीवन प्रभावित हुआ। बंद के कारण आस-पास के गांवों से दैनिक जरूरत की चीजें खरीदने पहुंचने वालों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। एक दिन पहले से ही लाउड स्पीकर पर दुकानें बंद रखने की अपील की जा रही थी।

सुबह से ही शहर के सभी प्रमुख व्यावसायिक इलाकों में वीरानी छाई रही। मेन रोड, पैलेस रोड संजय बाजार के आसपास की सभी दुकानें बंद रहीं। बंद से जरूरी सेवाओं को दूर रखा गया था। ऐसे में मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप और अन्य कुछ संस्थान खुले रहे। शैक्षणिक संस्थाओं एवं शासकीय-अर्धशासकीय दफ्तरों में सामान्य दिनों की तरह कामकाज हुआ, अलबत्ता उपस्थिति क्षीण रही। सिनेमा घर एवं पेट्रोल पम्पों के दरवाजों पर ताले लटके रहे।

अग्रि संस्था के राष्ट्रीय संयोजक आनंद मोहन मिश्रा एवं सर्वधर्म समाज के अध्यक्ष रमेश जैन, सचिव मनीष मूलचंदानी ने कहा कि नक्सलवाद के खिलाफ हम जनता को विश्वास में लेकर केन्द्र और राज्य सरकार को यह जनादेश देना चाहते हैं कि हमारी सेना और पुलिस बल को स्वतंत्रता दी जाए। बात-बात में माओवाद पोषित संस्थाओं द्वारा अड़ंगे लगाए जाते हैं, हम उसे खारिज करते हैं। हम आ”ान करते हैं कि बस्तर के विषय में कोई भी निर्णय दिल्ली या रायपुर की बजाय बस्तर में ही लिए जाएं।नक्सली हत्या के विरोध में कल बीजापुर जिला मुख्यालय भी बंद रहा और आज सुकमा जिले में व्यापारियों ने जवानों को श्रद्धांजलि देने कैंडल मार्च करते हुए अपना समूचा कारोबार बंद रखा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.