पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों के साथ की अहम बैठक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवीनता को देश की प्रगति और समृद्धि की कुंजी बताते हुए कहा कि सरकार की प्राथमिकता विज्ञान को लागू कर देश की समस्याएं हल करना है।  पीएम मोदी ने स्पष्ट कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि विज्ञान के माध्यम से देश की समस्याएं आसानी से हल की जा सकती है।  प्रधानमंत्री ने मंगलवार को यहां सरकार के शीर्ष वैज्ञानिक अधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि कि उन्हें जमीनी स्तर पर सफल नवाचारों को दोहराने के लिए तंत्र बनाना चाहिए तथा वर्ष 2022 तक का स्पष्ट लक्ष्य तैयार करना चाहिए।

उन्होंने खेल में प्रतिभा की पहचान करने का उदाहरण देते हुए कहा कि स्कूल के छात्रों में प्रतिभाशाली और श्रेष्ठ ज्ञान प्रतिभा की पहचान करने के लिए तंत्र बनाने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री ने प्राथमिकता वाले क्षेत्रों के रूप में उच्च प्रोटीन दालों खाद्य पदार्थों अरंडी इत्यादी के मूल्य में वृद्धि की पहचान किये जाने की आवश्यकता पर जोर दिया।उन्होंने कहा कि ऊर्जा क्षेत्र में आयात पर निर्भरता को कम करने के लिए सौर ऊर्जा की संभावनाओं को अधिक बल देना चाहिए। प्रधानमंत्री ने सौर ऊर्जा की संभावनाओं को प्राथमिकता के आधार पर अपनाने की बात कही। प्रधानमंत्री के साथ बैठक करने वालों में नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके सारस्वत, भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार डॉक्टर चिदंबरम, केंद्र सरकार के विभिन्न वैज्ञानिक विभाग के सचिव तथा वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को वैज्ञानिक शोध के विभिन्न क्षेत्रों में हुई प्रगति की भी जानकारी दी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.