घाटकोपर: मरनेवालों की संख्या 17 हुई

घाटकोपर के मंजिला ढहाने से 17 की मौत हुई, अभी भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका

मुंबई: मुंबई के घाटकोपर स्थित एक चार मंजिला इमारत के ढहने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। इस हादसे में नौ लोग गंभीर रूप से घायल हैं। बचाव कार्य के दौरान दो दमकलकर्मी भी घायल हो गए। हादसे के 15 घंटे बाद बीती रात एक बजे एक व्यक्ति को मलबे से ज़िंदा निकाला गया। स्थानीय प्रशासन के अनुसार अभी कुछ और लोग मलबे में दबे हो सकते हैं।

एनडीआरएफ़ और एसडीआरएफ़ की टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हुई हैं। इस बीच हादसे के मुख्य आरोपी सुनील शिताप को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है। सुनील शिताप इस इमारत की निचली मंजिल पर एक अस्पताल चलाता है। बताया जाता है कि अस्पताल में अवैध निर्माण कार्य शुरू करने के बाद ही यह हादसा हो गया। उधर, घटना स्थल का दौरा करने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि इस हादसे से प्रभावित लोगों की हर संभव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार को अचानक हादसे का शिकार होने वाली साईं दर्शन नाम की इस इमारत में लगभग 12 परिवार रहते हैं। इस इमारत की निजली मंजिल पर एक अस्पताल भी था।

हादसे की सूचना के बाद मुंबई अग्निशमन विभाग, बीएमसी, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के लोगों ने घटना स्थल पर पहुंच कर बचाव कार्य शुरू कर दिया। उल्लेखनीय है कि यह इमारत बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) की खतरनाक इमारतों की सूची में शामिल थी और छह माह पहले ही इसे खाली करने का नोटिस जारी किया गया था। बीएमसी आपदा नियंत्रण के मुताबिक, बचाए गए लोगों को इलाज के लिए मुंबई के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घायलों में दो दमकलकर्मी भी हैं। बताया गया है कि अस्पताल शिवसेना के स्थानीय नेता का था और इसमें मरम्मत का काम चल रहा था।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.