ईवीएम से छेड़छाड़ संभव नही, राजनीति दल तीन जून से करके दिखाएं हैक : आयोग

नयी दिल्ली:  चुनाव आयोग ने आज दोहराया कि उसके द्वारा इस्तेमाल की जा रही इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में छेड़छाड़ संभव नहीं है। उसने राजनीतिक दलों को इन्हें हैक करने की चुनौती देते हुए इसके लिए उन्हें तीन जून से आमंत्रित किया है।

मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने ईवीएम में छेड़छाड़ को लेकर उठे विवाद के मद्देनजर आज संवाददाता सम्मेलन में स्पष्ट किया कि ये मशीनें पूरी तरह सुरक्षित, विश्वसनीय और भरोसे की है तथा इनका इस्तेमाल किसी के पक्ष में या खिलाफ नहीं किया जा सकता।

उन्होंने कहा ”हमारी मशीनों में कोई छेड़छाड़ नहीं की जा सकती और न ही उनके उपकरण बिना किसी की जानकारी में आए बदले जा सकते हैं। इन मशीनों में बनाते समय भी छेड़छाड़ करना संभव नहीं है और इनका डॉटा किसी भी तरह से बदला नहीं जा सकता है।” श्री जैदी ने राजनीतिक दलों को ईवीएम हैक करने की चुनौती दी कि वे तीन जून से आयोग के मुख्यालय निर्वाचन सदन में आकर ऐसा करके दिखाएं।

कोई भी दल अपने सूचना प्रौद्योगिकी विशेषज्ञों के साथ अकर इन मशीनों का परीक्षण कर सकता है। उन्होंने कहा कि कोई भी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय या क्षेत्रीय दल 26 मई तक इसमें भाग लेने के लिए आवेदन कर सकता है और उन्हीं दलों को तीन जून से इसमें शामिल होने की अनुमति दी जाएगी। एक दल अपने तीन प्रतिनिधि इसके लिए भेज सकता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.