धर्म परिवर्तन से व्यक्ति के मन में भ्रम पैदा हो सकता है: दलाई लामा

गुवाहाटी: तिब्बतियों के सर्वोच्च धार्मिक गुरू दलाई लामा ने धर्म परिवर्तन पर अपनी असहमति जताते हुए कहा है कि धर्म परिवर्तन से व्यक्ति के मन में भ्रम पैदा हो सकता है।

दलाई लामा ने आज यहां “नमामि ब्रह्मपुत्र महोत्सव” कार्यक्रम में बलात धर्मांतरण संबंधी रिपोर्टों पर राय पूछे जाने पर कहा ” धर्म परिवर्तन अच्छा नहीें है और प्रत्येक व्यक्ति के लिए यह बेहतर है कि वह अपने धर्म में आस्था बनाए रखे क्योंकि धर्म बदलने से भ्रम पैदा हो सकता है।” उन्होंने कहा कि धर्म एक बहुत ही गहरी व्यक्तिगत पसंद है और किसी भी व्यक्ति पर जबरन कोई भी धर्म नहीं थोपा जाना चाहिए। दलाई लामा ने कहा कि पि>मी देशों के दौर पर जब वह जाते हैं तो किसी को अपना बौद्व धर्म अपनाने को नहीें कहते और न ही कभी ऐसा किया है। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि अगर कोई व्यक्ति अपनी मर्जी से किसी धर्म को स्वीकार करना चाहता है तो उसे यह करने की आजादी दी जानी चाहिए।

उन्होंने इस बात की आवश्यकता जताई कि हर व्यक्ति को विभिन्न धर्मों के बारे में ज्ञान रखना चाहिए ताकि वैचारिक सोच को विस्तृत किया जा सके और धार्मिक समरसता विकसित हो सके।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.