लखनऊ में प्रधानमंत्री मोदी ने 25 फुट ऊंची अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा का किया अनावरण

उत्तर प्रदेश: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के मौके पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को उनकी 25 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की प्रतिमा को पुष्पांजलि अर्पित की। इसके अलावा उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय की भी आधारशिला रखी। इस विश्वविद्यालय के लिये उत्तर प्रदेश सरकार ने 50 एकड़ भूमि दी है।

वाजपेयी के जन्मदिन के मौके पर लखनऊ पहुंचे पीएम मोदी ने बीते दिनों राजधानी में नागरिकता संसोधन कानून को लेकर हुई हिंसा और अयोध्या से लेकर 370 पर भी मन की बात की। लखनऊ आए पीएम मोदी ने बीते दिनों राज्य में नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ हुई हिंसा पर अपनी बात कही। उन्होंने नागरिकों से अपने दायित्व निभाने को कहा। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि दायित्व की भावना न केवल नागरिक बल्कि, सरकार के लिए महत्वपूर्ण है।

सरकार का दायित्व है कि वह 5 साल नहीं बल्कि आने वाली पांच पीढ़ियों के हिसाब से अपना काम करे। इसके अलावा उन्होंने अनुच्छेद 370, रामजन्मभूमि फैसले पर भी बात की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संशोधित नागरिकता कानून, रामजन्मभूमि मामला और अनुच्छेद 370 का जिक्र करते हुए बुधवार को कहा कि उनकी सरकार विरासत में मिली सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक समस्याओं के समाधान का निरन्तर प्रयास कर रही है और उसने ”चुनौतियों को चुनौती” देने का कोई मौका नहीं छोड़ा है।

प्रधानमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के मौके पर यहां आयोजित कार्यक्रम में कहा, ‘हमें विरासत में जो भी सामाजिक, आर्थिक तथा राजनीतिक समस्याएं और चुनौतियां मिली हैं, उनके समाधान की हम निरन्तर कोशिश कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अनुच्छेद 370 कितनी पुरानी बीमारी थी। कितनी कठिन लगती थी, मगर हमारा दायित्व था कि हम ऐसी कठिन चुनौतियों से पार पायें और यह आराम से हुआ… सबकी धारणाएं चूर-चूर हो गयीं। राम जन्मभूमि के इतने पुराने मामले का शांतिपूर्ण समाधान हुआ।’

प्रधानमंत्री ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुए हिंसक प्रदर्शनों का जिक्र करते हुए कहा ””यूपी में कुछ लोगों ने विरोध प्रर्दान के नाम पर हिंसा की। वे खुद से सवाल पूछें कि क्या उनका यह रास्ता सही था? जो कुछ जलाया गया क्या वह उनके बच्चों के काम नहीं आने वाला था? हिंसा में जिन लोगों की मृत्यु हुई, जो लोग जख्मी हुए उनके परिवार पर क्या बीती होगी। मैं अफवाहों में आकर सरकारी सम्पत्ति को तोड़ने वालों से आग्रह करूंगा कि सार्वजनिक सम्पत्ति को बचाकर रखना उनका भी दायित्व है।”” इससे पहले, भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर यहां पहुंचे मोदी ने लोकभवन परिसर में स्थित उनकी करीब 25 फुट ऊंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण किया और पुष्पांजलि अर्पित की।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.