मोदी ने किया दिल्ली मेट्रो की मेजेंटा लाइन का उद्घाटन

नोएडा: प्रधानमंत्री नरेन्­द्र मोदी ने दिल्ली और नोएडा वासियों को तोहफा देते हुए आज दिल्ली मेट्रो की पहली चालक रहित मैजेंटा लाइन रेल का उद्घाटन किया।श्री मोदी ने नोएडा को दक्षिण दिल्ली से जोड़ने वाली 12.64 किलोमीटर लम्बी इस रेल सेवा को हरी झंडी दिखाकर उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने उत्तरप्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी और संस्कृति मंत्री महेश शर्मा तथा उत्तरप्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडे के साथ इस ट्रेन से सफर भी किया। इस अवसर पर श्री मोदी ने एक जनसभा को संबोधित भी किया गया।

प्रधानमंत्री इस वर्ष अब तक दो मेट्रो लाइन का उद्घाटन कर चुके हैं। उन्होंने इससे पहले जून में कोच्चि मेट्रो और नवम्­बर में हैदराबाद मेट्रो राष्­ट्र को समर्पित की थी। इन दोनों अवसरों पर प्रधानमंत्री ने जनसभा के स्­थल पर पहुंचने से पहले नयी मेट्रो लाइनों से कुछ दूरी तक यात्रा की थी।

श्री मोदी राष्­ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अपने कार्यक्रमों में हिस्­सा लेने के लिए मेट्रो से सफर का लुत्फ लेते रहे हैं। जून 2016 में फ्रांस के राष्­ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद के साथ उन्होंने दिल्­ली से गुरूग्राम तक मेट्रो से यात्रा की थी। गुरुग्राम में तब संयुक्­त रूप से इंटरनेशनल सोलर एलाइंस के मुख्­यालय की आधारशिला रखी जानी थी। गत अप्रैल में उन्होंने ऑस्­ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्­कम टर्नबुल के साथ अक्षरधाम मंदिर तक मेट्रो से सफर किया था।

बोटानिकल गार्डन-कालकाजी मंदिर खंड पर शुरू में कुल 10 ट्रेनों को सेवा में लगाया जाएगा तथा दो ट्रेनों को आपदा सेवा के लिए अलग से रखा जाएगा। ट्रेनों का परिचालन पांच मिनट एवं 15 सेकेंड के अंतराल पर होगा। इस खंड के सभी नौ स्टेशनों बोटानिकल गार्डन, ओखला बर्ड सैं^री, कालिंदी कुंज, जसोला विहार, शाहीन बाग, जामिया मिलिया इस्लामिया, ओखला विहार, सुखदेव विहार, ओखला एनएसआईसी और कालकाजी मंदिर स्टेशनों के प्लेटफॉर्म पर स्क्रीन डोर होंगे। कालकाजी मंदिर स्टेशन भूमिगत तथा अन्य दूसरे स्टेशन जमीन के ऊपर बनाए गए हैं।

तीव्र परिवहन प्रणालियों के जरिए कनेक्टिविटी बढाने के लक्ष्­य को ध्­यान में रखते हुए पिछले साढ़े तीन वर्ष के दौरान देश में करीब 165 किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए नौ मेट्रो परियोजनाएं शुरू की जा चुकी है। पांच नयी मेट्रो रेल परियाजनाओं का अनुमोदन किया गया है जिनसे 140 किलोमीटर लम्­बी मेट्रो लाइन का निर्माण होगा। अगले दो वर्षों में करीब 250 किलोमीटर लम्­बी मेट्रो लाइनों को चालू करने का प्रस्­ताव है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.