‘भारत के वीर’ के तहत शहीदों के परिवार की मदद को आगे आए 80 हजार लोग

नई दिल्ली: सरकार ने सोमवार को कहा कि 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के लिए शुरू की गई पहल ‘भारत के वीर’ के तहत अब तक 80,000 लोगों ने 20 करोड़ रुपये से अधिक का दान दिया है। जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर पुलवामा में 14 फरवरी को विस्फोटकों से लदे एक वाहन के केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के दस्ते से टकराने से 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए और अनेक जख्मी हो गए। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अप्रैल 2017 में भारत के वीर वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन लांच किया था। बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार भी इस पहल में शामिल थे।

सरकार ने कहा कि इस पहल के तहत 46 करोड़ रुपये जमा हुए जिसमें से अधिकांश राशि का वितरण हो चुका है। तकनीकी रूप से नेशनल इन्फोर्मेटिक्स सेंटर द्वारा समर्थित और भारतीय स्टेट बैंक चालित इस बेवसाइट व एप के जरिए कोई अपनी इच्छा से चयनित वीरों के नाम वित्तीय मदद दे सकते हैं या आमतौर पर संग्रहित राशि में अपना योगदान दे सकता है।  किसी भी जवान विशेष या उनके रिश्तेदार को कोई अधिकतम 15 लाख रुपये का दान दे सकता है।

15 लाख रुपये से अधिक की राशि दूसरे जवान या भारत के वीर के खाते में जमा की जाती है। इस कॉर्पस यानी संग्रहित धन का प्रबंधन प्रख्यात व्यक्तियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों द्वारा किया जाता है जो समान रूप से केंद्रीय सैन्य पुलिस बल (सीएपीएफ) के जवानों के परिवारों को उनकी जरूरत के आधार पर वितरित करने का फैसला लेते हैं।

सीएपीएफ में गृह मंत्रालय के तहत आने वाले असम राइफल्स (एआर), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ), राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) शामिल हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.