बिहार : विवाह भवन से ईवीएम बरामद होने के मामले में चुनाव अधिकारी को नोटिस

मुजफ्फरपुर:  बिहार के पांचवें चरण के लोकसभा चुनाव में सोमवार की शाम मुजफ्फरपुर के एक विवाह भवन से छह ईवीएम मिलने के मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं तथा क्षेत्रीय दंडाधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। मुजफ्फरपुर के जिला अधिकारी आलोक रंजन घोष ने मंगलवार को बताया कि मुजफ्फरपुर में 6 मई को मतदान के बाद एक विवाह भवन से मशीनें बरामद की गई थीं। उन्होंने बताया कि बरामद सभी मशीनों को सुरक्षित (रिजर्व) के तौर पर रखा गया था, जिन्हें किसी भी खराब मशीनों को बदलने की आवश्यकता होने पर इस्तेमाल किया जाना था।

घोष ने बताया, ”क्षेत्रीय अधिकारी को कुछ आरक्षित मशीनें मतदान केंद्रों पर मशीन के खराब होने की स्थिति में बदलने के लिए दी गई थीं। उन मशीनों को कहीं ले जाना नियमों के विरुद्घ हैं।” उन्होंने कहा कि दंडाधिकारी के वाहन चालक ने पास के ही मतदान कंेंद्र पर जाकर अपने मतदान की इच्छा जताई थी। जिसके बाद दंडाधिकारी विवाह मंडप के पास ईवीएम मशीन को लेकर उतर गए। इसी दौरान कुछ लोगों को इसकी जानकारी मिल गई और वहां हंगामा करने लगे। घोष ने बताया कि क्षेत्रीय अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।  उल्लेखनीय है कि सोमवार को बिहार की पांच लोकसभा सीटों मुजफ्फरपुर, मधुबनी, सारण, हाजीपुर और सीतामढ़ी में मतदान हुआ है। मतों की गिनती 23 मई को होगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.