प्रधानमंत्री मोदी 3 देशों की यात्रा के लिए रवाना

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी से फ्रांस के लिए रवाना हुए। फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के अलावा मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और बहरीन की यात्रा भी करेंगे। मोदी की तीन देशों के लिए होने वाली पांच दिवसीय यात्रा 22 से 26 अगस्त के बीच होनी है। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया, ”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पेरिस के लिए रवाना हो गए हैं। अगले कुछ दिनों में वह फ्रांस, यूएई और बहरीन में महत्वपूर्ण द्विपक्षीय और बहुपक्षीय कार्यक्रमों में भाग लेंगे।”

फ्रांस के लिए एक विशेष विमान से उड़ान भरने से पहले प्रधानमंत्री ने कहा, ”मेरी फ्रांस यात्रा मजबूत रणनीतिक साझेदारी को दर्शाती है, जोकि दोनों देशों के लिए काफी महत्वपूर्ण है।” गुरुवार और शुक्रवार को फ्रांस में मोदी की द्विपक्षीय बैठकें होंगी, जिनमें फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के साथ एक शिखर सम्मेलन और प्रधानमंत्री एडोर्ड फिलिप के साथ एक बैठक शामिल है।इस दौरे पर मोदी भारतीय समुदाय से भी मिलेंगे और 1950 व 1960 के दशक में फ्रांस में हुए एयर इंडिया के दो विमान हादसों के भारतीय मृतकों के प्रति एक स्मारक भी समर्पित करेंगे।

मोदी इस दौरान 25 और 26 अगस्त को पर्यावरण, जलवायु, महासागरों और डिजिटल परिवर्तन के सत्रों में फ्रांसीसी राष्ट्रपति के आमंत्रण पर बियारित्ज पार्टनर के तौर पर जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।मोदी ने एक बयान में कहा, ”भारत और फ्रांस के बीच मजबूत द्विपक्षीय संबंध हैं। यह दोनों देशों के साथ विश्व में बड़े पैमाने पर शांति और समृद्धि को बढ़ाने में सहायक हैं।” उन्होंने कहा, ”हमारी मजबूत रणनीतिक और आर्थिक साझेदारी आतंकवाद व जलवायु परिवर्तन जैसी प्रमुख वैश्विक चिंताओं पर साझा दृष्टिकोण रखती है। मुझे विश्वास है कि यह यात्रा आपसी समृद्धि, शांति और प्रगति के लिए फ्रांस के साथ हमारी दीर्घकालिक और मूल्यवान मित्रता को और बढ़ावा देगी।”

रवाना होने से पहले मोदी ने 23 और 24 अगस्त को यूएई और बहरीन की अपनी यात्रा के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि वह अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान के साथ द्विपक्षीय संबंधों के अलावा आपसी हित के क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर बातचीत करेंगे।प्रधानमंत्री ने क्राउन प्रिंस के साथ महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने के लिए संयुक्त रूप से एक डाक टिकट जारी करने की भी योजना बनाई है।उन्होंने कहा, ”इस यात्रा के दौरान यूएई सरकार द्वारा प्रदान किए जाने वाले सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ को प्राप्त करना एक सम्मान की बात होगी।

मैं विदेशों में कैशलेस लेनदेन के नेटवर्क का विस्तार करने के लिए औपचारिक रूप से रुपे कार्ड भी लॉन्च करूंगा।” मोदी ने कहा, ”भारत और यूएई के बीच लगातार उच्चस्तरीय बातचीत हमारे जीवंत संबंधों को दर्शाती है।” उन्होंने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार होने के साथ ही भारत के लिए कच्चे तेल का चौथा सबसे बड़ा निर्यातक है।

प्रधानमंत्री अपनी यात्रा के दौरान बहरीन भी जाएंगे। यह भारत के किसी भी प्रधानमंत्री की पहली बहरीन यात्रा होगी।मोदी द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने और आपसी हित के क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विचार साझा करने के लिए बहरीन के प्रधानमंत्री प्रिंस शेख खलीफा बिन सलमान अल खलीफा के साथ चर्चा करेंगे।मोदी यहां भारतीय मूल के लोगों के साथ बातचीत करने के अलावा बहरीन के राजा शेख हमद बिन ईसा अल खलीफा और अन्य नेताओं से भी मुलाकात करेंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.