नए आईएस मॉड्यूल : एनआईए ने उप्र में 5, पंजाब में 2 जगह की छापेमारी

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से प्रेरित एक नए मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम की जांच के सिलसिले में उत्तर प्रदेश में पांच जगहों व पंजाब के दो जगहों- लुधियाना व अमृतसर में छापेमारी की। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी।एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि एनआईए की टीम ने एक साथ सात जगहों पर तलाशी ली। इनमें उत्तर प्रदेश का रामपुर, बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़ व अमरोहा व पंजाब का लुधियाना और अमृतसर शामिल हैं। एनआईए ने तलाशी दिन की शुरुआत में ली। गिरफ्तार किए गए लोगों में लुधियाना का एक मौलवी भी है।

वैश्विक आतंकी संगठन से संबंध के शक में हापुड़ से एक संदिग्ध की गिरफ्तारी के पांच दिन बाद यह हालिया तलाशी अभियान शुरू किया गया है। हापुड़ से गिरफ्तार संदिग्ध का ताल्लुक वैश्विक आतंकी संगठन से होने का अंदेशा है। एक सूत्र के अनुसार, एनआईए अधिकारियों ने बुलंदशहर जिले के कालोली गांव के एक निवासी 50 साल के मोहम्मद हबीब को हिरासत में लिया। एक जनरल स्टोर के मालिक हबीब ने 25 साल से ज्यादा समय सऊदी अरब में बिताए हैं और उसे पूछताछ के लिए एनआईए के दिल्ली स्थित दफ्तर में लाया जा सकता है।

सूत्र ने यह भी कहा कि अमरोहा के बांसखेड़ी गांव से गुफरान नाम के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। एक व्यक्ति को लुधियाना से और एक अन्य व्यक्ति को उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया गया है।लुधियाना से एक मौलवी को एक मस्जिद से हिरासत में लिया गया है। सूत्रों ने कहा कि उसकी पहचान मोहम्मद ओवैस के रूप में हुई है। उसे सुबह में राहोन रोड स्थित मधिनी मस्जिद पर छापे के बाद हिरासत में लिया गया।ओवैस उत्तर प्रदेश के रामपुर का रहने वाला है और वह लुधियाना में बीते कुछ महीनों से काम कर रहा है। सूत्रों ने कहा कि पंजाब के अमृतसर व लुधियाना में छापेमारी की गई।

उन्होंने कहा कि मेरठ के गिरफ्तार हथियार आपूर्तिकर्ता नईम से मिली गुप्त सूचना के बाद एजेंसी ने हापुड़ जिले के दो गांवों में तलाशी अभियान को अंजाम दिया। नईम को 4 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।एनआईए को गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के दौरान कई सुराग मिले हैं और छापेमारी अब भी जारी है।एजेंसी नए मॉड्यूल के पीछे विदेशी मास्टरमाइंड की भूमिका की जांच कर रही है।यह कार्रवाई 20 दिसंबर को दर्ज किए एक मामले के मद्देनजर की गई है। एनआईए ने 11 जनवरी को हापुड़ जिले से एक संदिग्ध मोहम्मद अबसार को गिरफ्तार किया था।

इस मामले में शुरुआती गिरफ्तारी 26 दिसंबर को की गई थी, जबकि 10 सदस्यों को दिल्ली व उत्तर प्रदेश के 17 जगहों की तलाशी लेने के बाद गिरफ्तार किया गया था। इसमें आईएस के नए मॉड्यूल का मास्टरमाइंड मुफ्ती मोहम्मद सुहैल शामिल था।गिरफ्तार किए गए लोग कथित तौर पर कुछ राजनीतिक शख्सियतों, सुरक्षा प्रतिष्ठानों व साथ ही दिल्ली व राष्ट्रीय राजधानी के भीड़ भरे इलाकों में हमले की साजिश रच रहे थे।एनआईए ने 25 किलो विस्फोटक सामग्री जब्त की थी, जिसमें पोटैशियम नाइट्रेट, अमोनियम नाइट्रेट, सल्फर, सुगर मटेरियल पेस्ट, मोबाइल फोन सर्किट, बैटरीज, 51 पाइप, रिमोट कंट्रोल आदि सामग्री शामिल थी।

इनके पास से देश में बना रॉकेट लांचर, 12 पिस्तौल, 112 अलार्म घड़ी, 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड, कई लैपटॉप, विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक गजेट के अलावा 150 राउंड गोला-बारूद बरामद किए गए। साथ ही आईएस से संबंधित पठन सामग्री व 7.5 लाख रुपये नकद भी जब्त किए गए। आईएनए ने नए आईएस मॉड्यूल से जुड़े संदिग्धों की पहचान के लिए इतना गहन तलाशी अभियान पहले कभी शायद ही चलाया हो।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.