केंद्रीय मंत्री रविशंकर व आऱ के़ सिन्हा के समर्थकों के बीच पटना में मारपीट

पटना: बिहार में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सीट बंटवारे पर असंतोष अब मारपीट के रूप में प्रकट हो रहा है। पटना हवाईअड्डे पर मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई, बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद झगड़ा शांत हुआ। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद पटना हवाईअड्डा पहुंचे ही थे कि भाजपा के राज्यसभा सांसद आर.के़ सिन्हा के समर्थक भी वहां पहुंच गए और उनका विरोध शुरू कर दिया। सिन्हा के समर्थक जब रविशंकर के विरोध में नारा लगाने लगे, तब दोनों नेताओं के समर्थकों में जमकर मारपीट हुई।

इस दौरान पटना हवाईअड्डे के बाहर अफरा-तफरी मच गई। पुलिस के हस्तक्षेप के बाद झगड़ा सुलझाया गया। बाद में रविशंकर प्रसाद पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हो गए। दरअसल, भाजपा के मौजूदा सांसद और आडवाणी खेमे के नेता शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट काटकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को पटना साहिब से प्रत्याशी बनाया गया है। कहा जा रहा है कि आऱ के़ सिन्हा भी पटना साहिब से टिकट के दावेदार थे। सिन्हा को पटना साहिब का टिकट नहीं मिलने से उनके समर्थक नाराज हैं और वे रविशंकर प्रसाद का विरोध कर रहे हैं।

इस घटना पर रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कुछ नहीं कहा और पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हो गए।
भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने इस घटना पर सफाई देते हुए कहा, ”भाजपा एक राष्ट्रवादी राजनीतिक संगठन है, जिसकी विचारधारा व संगठन की मजबूत बुनियाद है। भाजपा के उत्साहित नेता, कार्यकर्ता पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के नए उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद जी के स्वागत में जुटे थे, जहां कुछ अवांछित लोग हंगामा करने लगे।” उन्होंने दावा किया कि धक्का-मुक्की करने वालों का भाजपा संगठन से कोई लेना-देना नहीं है। इस घटना की निंदा करते हुए उन्होंने कहा, ”भीड़ में शामिल होकर ऐसी हरकत करने वाले असामाजिक तत्वों से हमारी पार्टी के कार्यकर्ता सचेत व सावधान हैं।”

आनंद ने कहा कि रविशंकर प्रसाद रिकर्ड मतों से विजयी होंगे और शत्रुघ्न सिन्हा राजनीतिक तौर पर खामोश हो जाएंगे।शत्रुघ्न सिन्हा ने हालांकि हाल ही में कहा था, ”मैं चुनाव लड़ूंगा। लोकेशन वही होगा, सिचुएशन कुछ भी हो सकता है।”

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.